मेंढक के स्टेम सेल से बने सजीव रोबोट, इस तरह आए अस्तित्व में; रोगों में है कारगर…

0
0
frog

अमेरिका के वैज्ञानिकों ने स्टेम सेल के जरिए पहली सजीव मशीन बनाने में कामयाबी हासिल की है। इन
सजीव रोबोट्स को ‘जीनोबोट्स’ का नाम दिया गया है। एक इंच के 25वें हिस्से के बराबर इन रोबोट्स
को कैंसर कोशिकाओं के खात्मे में इस्तेमाल किया जा सकता है। इन्हें समुद्र से माइक्रोप्लास्टिक एकत्रित
करने के काम में लाया जा सकता है। यह शोध ‘प्रोसिडिंग्स ऑफ द नेशनल अकेडमी ऑफ साइंस’ में
प्रकाशित हुआ है। भविष्य में इन रोबोट्स के अन्य प्रभावी उपयोग सामने आ सकते हैं।

वैज्ञानिकों ने इन छोटे रोबोट्स को वेरमाउंट विश्वविद्यालय और टफ्ट्स विश्वविद्यालय में विकसित किया है।
इसके लिए अफ्रीका के मेढक जीनोपस लेविस के भ्रूण से स्टेम सेल लिए गए। अमेरिका ने मुहैया कराया
धन इस शोध को अमेरिका के डिफेंस एडवांस्ड रिसर्च प्रोजेक्ट्स एजेंसी के लाइफ लांग लर्निंग मशीन प्रोग्राम
ने धन मुहैया कराया है। इसका उद्देश्य मशीनों में जैविक शिक्षा प्रक्रियाओं को फिर से बनाना हैं।