मोदी के मंत्री बोले- मन्नान वानी के आतंकी बनने से AMU पर सवाल

0
10

मन्नान वानी जो हिज्बुल का आतंकी बन गया था, उसे जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में सुरक्षाबलों ने एनकाउंटर में ढेर कर दिया. AMU में मचे बवाल को मानव संसाधन राज्यमंत्री सत्यपाल सिंह ने दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में आतंकी मन्नान बशीर वानी के लिए नमाज पढ़ने को लेकर बवाल मचा है. मन्नान वानी जो हिज्बुल का आतंकी बन गया था, उसे जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में सुरक्षाबलों ने एनकाउंटर में ढेर कर दिया. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में मचे बवाल को मानव संसाधन राज्यमंत्री सत्यपाल सिंह ने दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है.

उन्होंने कहा कि अगर हमारे पढ़े-लिखे बच्चे विशेष तौर से जो एएमयू जैसी प्रसिद्ध यूनिवर्सिटी से निकले हों और वह हिज्बुल जैसे आतंकी संगठनों में कमांडर बनकर काम करते है तो ऐसे में उस शिक्षण संस्थान पर सवाल खड़े होते हैं. उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए चिंता की बात है.

सत्यपाल सिंह ने कहा कि मैं विश्वविद्यालय के अधिकारियों और छात्रों का भी अभिनंदन करना चाहता हूं. जिन्होंने नमाज पढ़ने का विरोध किया. सत्यपाल सिंह का कहना है कि विचार की स्वतंत्रता को लेकर आप देश के खिलाफ काम नहीं कर सकते हैं. यह गलत बात है. इस बात को किसी को भी सहन नहीं करना चाहिए.

यूनिवर्सिटी प्रशासन ने पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए 3 छात्रों को सस्पेंड कर दिया है. यूनिवर्सिटी पीआरओ ने कहा कि यूनिवर्सिटी कैंपस में देश की सुरक्षा के मसले पर किसी तरह का समझौता नहीं किया जाएगा और यूनिवर्सिटी ऐसे लोगों से कड़ाई से निपटेगा. आज हुए हंगामे की अंदरुनी जांच कराई जा रही है.

मन्नान बशीर वानी अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी का पीएचडी का स्टूडेंट था, यूनिवर्सिटी से गायब होने के बाद सोशल मीडिया में उसकी हांथ में बंदूक लिए फोटो वायरल हुई थी, जिसके बाद यूनिवर्सिटी ने वानी को निकाल दिया था.