राहुल ने पार्टी सांसदों को दिया संघर्ष का मंत्र, कहा- 52 सांसद ही भाजपा से लड़ने के लिए काफी ….

0
4

Lok Sabha Election-2019 में पार्टी की करारी हार के बाद कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) पहली

बार शुक्रवार को नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला।

पार्टी के लोकसभा सदस्‍यों को संघर्ष का मंत्र देते हुए कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने नवनिर्वाचित लोकसभा सांसदों

(newly Congress parliamentarians) की पहली बैठक में कहा कि हर व्यक्ति को याद रखना चाहिए कि

यह लड़ाई संविधान बचाने के लिए है।

कांग्रेस के 52 सांसद ही भाजपा से इंच-इंच लड़ने के लिए काफी हैं।

बता दें कि कांग्रेस के नवनिर्वाचित लोकसभा सांसदों (newly Congress parliamentarians) की पहली बैठक

में सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को चौथी बार कांग्रेस संसदीय दल (Congress Parliamentary Party) का

नेता चुना गया।

सोनिया गांधी साल 2014 से ही इस पद की जिम्‍मेदारी संभाल रही हैं।

यह बैठक ऐसे समय हुई, जब राहुल गांधी (Rahul Gandhi) कह चुके हैं कि वह अब पार्टी अध्‍यक्ष पद पर

नहीं बने रहना चाहते हैं।

बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष ने नवनिर्वाचित सांसदों को न्याय और संविधान के लिए संघर्ष की सीख देते हुए कहा कि हम

52 सांसदों को एकजुट होकर न्‍याय की लड़ाई लड़नी है।

भले ही हमारी संख्‍या 52 ही क्‍यों न हो हम भाजपा से इंच-इंच की लड़ाई लड़ सकते हैं।

हमारी लड़ाई जाति, धर्म, लिंग, रंगभेद से परे है।

यह देश के हर उस नागरिक के लिए है जो लोकतांत्रिक प्रक्रिया में यकीन रखता है।