लड़ाई से तबाह और फिर आबाद किए इस गांव में सिर्फ रहती हैं महिलाएं, नाम है ‘जिनवार’

0
1

पश्चिम एशिया का देश सीरिया लंबे समय से गृहयुद्ध के कारण तबाही को झेल रहा है।

आतंकी संगठन आइएसएस से चल रहे युद्ध और गोलीबारी के कारण यहां कई गांवों की स्थिति ऐसी है,

जो पुरुष विहीन हो गए हैं।

ऐसे में यहां की महिलाओं के सामने अस्तित्‍व का संकट सामने आया गया। अलग-अलग समुदाय की महिलाओं ने

यहां मिलजुलकर गांवों को आबाद किया। सीरिया का जिनवार ऐसा ही गांव है,

जहां सिर्फ महिलाएं रहती है।

अपनी मेहनत के बल पर महिलाओं ने इस गांव को आबाद किया है।

यहां रहने वाली फातिमा अमीन ऐसी ही महिला हैं, जिनके पति सीरिया के युद्ध में बारूदी सुरंग के विस्‍फोट

में आतंकी संगठन आइएसआइएस द्वारा मारे गए।

पति के मौत के बाद फातिमा अमीन की दुनिया बदल गई।

इसके बाद घटनाओं की एक श्रृंखला शुरू हुई, जिसके कारण बहुत संख्‍या में महिलाओं को जिनवार में लाकर बसाया गया।

इस गांव को बसाने में इन महिलाओं ने बड़ी भूमिका अदा की।

यह गांव सीरियाई महिलाओं और उनके बच्चों के लिए एक कठोर परिवारिक संरचना,

घरेलू दुर्व्यवहार और गृहयुद्ध की भयावहता से बचने के लिए एक शरणस्‍थली के रूप में जाना जाता है।