लिफ्ट मांगती थी अकेली लड़की, ऐसे एक्टिव होता था ब्लैकमेलिंग का पुलिस गैंग

0
9

दिल्ली से सटा यूपी का नोएडा शहर. हर तरफ भीड़ भाड़. सड़कों पर दौड़ता ट्रैफिक.

एक तन्हा खूबसूरत लड़की. सड़क के किनारे एक सुनसान सी जगह पर वो कमसिन युवती

किसी का इंतजार करती नजर आती है. वो सड़क से गुजरने वाली गाड़ियों को निहारती है.

फिर अचानक वो एक कार को हाथ देकर रोकती है. लड़की को देखकर गाड़ी चलाने वाला

कार के ब्रेक दबाता है. फौरन गाड़ी सड़क के किनारे खड़ी उस लड़की

के पास रुक जाती है.

गाड़ी चलाने वाला शख्स उस लड़की से मुखातिब होकर सवाल करता है.

क्या मदद कर सकता हूं आपकी? वो लड़की मुस्कुरा कर उसे कहती है- क्या आप मुझे

लिफ्ट दे सकते हैं. लड़की की शख्सियत को देखकर गाड़ी चलाने वाला फौरन हामी

भर देता है. किसी महंगे डियो की खुशबू से महकती वो खूबसूरत लड़की उस शख्स की

कार में सवार हो जाती है. कार फिर से नोएडा की सड़कों पर दौड़ने लगती है.

लड़की और कार चलाने वाला शख्स एक दूसरे से बातें करने लगते हैं.

कुछ दूर चलने के बाद नोएडा की एक मुख्य सड़क पर अचानक लड़की गाड़ी चलाने वाले

को रुकने के लिए कहती है. गाड़ी चलाने वाला भी कार के ब्रेक लगा देता है.

लड़की तेजी से कार का दरवाजा खोलती है. और वहीं कुछ दूरी पर खड़ी एक पुलिस

पीसीआर के पास जाकर पुलिस वालों से कुछ कहती है. कार चलाने वाला कुछ समझे

इससे पहले ही पुलिस वाले उसे रोक लेते हैं.