लेकिन कांग्रेस घोटालों की जांच को कल करेगी प्रदर्शन , ममता के साथ खड़े राहुल गांधी….

0
0

पश्चिम बंगाल में सीबीआई की कार्रवाई के बाद राज्य और केंद्र सरकार में तलवारें खिंची हुई हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को अपना समर्थन दिया है लेकिन पश्चिम बंगाल कांग्रेस ने चिट

फंड घोटाले की जांच की मांग पर अड़ी है।

इतना ही नहीं कांग्रेस की प्रदेश इकाई ने इस बात को लेकर केंद्र पर दबाव बनाने के लिए 6 फरवरी को प्रदर्शन

का ऐलान भी कर दिया है।

वहीं राहुल गांधी के बयान के बयान से इतर मप्र विधानसभा की उपाध्यक्ष हिना कांवरे ने सीबीआई की कार्रवाई का

बचाव किया है। उनका कहना है कि सीबीआई ने जो भी कार्रवाई की, उसमें कुछ सच्चाई रही होगी।

अगर कुछ गलत भी होगा तो वो सामने आ जाएगा।

हिना कांवरे दो दिवसीय जबलपुर दौरे पर हैं। दिनभर वे कांग्रेस नेताओं और विभिन्न आयोजनों में शरीक हुईं।

शाम को पत्रकारों के साथ चर्चा के दौरान उन्होंने यह बात कही।

पश्चिम बंगाल में भ्रष्‍टाचार के मुद्दे पर मोदी बनाम ममता के सियासी खेल में कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी डबल गेम

की रणनीति पर काम कर रहे हैं। हाई वोल्‍टेज ड्रामे वाले इस मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी ममता

बनर्जी से फोन पर समर्थन देने की बात की तो पश्चिम बंगाल कांग्रेस ने चिट फंड घोटाले की जांच की मांग पर अड़ी है।

इतना ही नहीं कांग्रेस की प्रदेश इकाई ने इस बात को लेकर केंद्र पर दबाव बनाने के लिए 6 फरवरी को प्रदर्शन का ऐलान

भी कर दिया है।

कांग्रेस की प्रदेश इकाई सारधा चिटफंड घोटाला, रोज वैली घोटाला और अन्य सभी चिट फंड घोटालों की जांच में

अंतिम निर्णय की मांग कर रही है। इन घोटालों की मांग को लेकर प्रदेश कांग्रेस 6 फरवरी को एक रैली करने जा रही है,

जिसमें इन सभी मामलों के साथ-साथ नारदा केस की भी जांच करके आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की जाएगी।

बता दें कि नारदा केस में टीएमसी के कई बड़े नेता आरोपी हैं।

आपको बता दें कि सारधा चिट फंड घोटाले को लेकर सीबीआई और पुलिस के बीच जारी टकराव के बाद से हाई वोल्टेड

ड्रामा जारी है।

टीएमसी की मुखिया और बंगाल की सीएम ममता बनर्जी अनिश्चितकालीन धरने पर बैठी हैं।

धरने के दूसरे दिन देशभर की कई पार्टियों के नेताओं ने कोलकाता पहुंचकर उनका समर्थन किया है।

कोलकाता पहुंचने वालों में आरजेडी नेता तेजस्‍वी यादव, आप नेता अरविंद केजरीवाल, डीएमके नेता कनिमोझी,

चंद्राबाबू नायडू, सपा प्रमुख अखिलेश यादव सहित कई अन्‍य दलों ने खुलकर समर्थन देने की घोषणा की है।