लोकसभा चुनाव मैदान में उतरने की तैयारी में पूर्व राजपरिवारों के सदस्य….

0
1

लोकसभा चुनाव के सियासी दंगल में राजस्थान के करीब आधा दर्जन पूर्व राजपरिवारों के सदस्य भी भाग्य आजमाना चाहते है।

देश में राजाओं का राज लोकतंत्र की स्थापना के साथ ही खत्म हुआ तो कई पूर्व राजपरिवारों के सदस्य सियासत का हिस्सा

बनना शुरू हो गए। पिछले कई सालों से राजस्थान के कई पूर्व राजपरिवारों के सदस्यों ने चुनावी रण में भाग्य अजमाया।

इनमें से कई कामयाब हुए तो कुछ को निराशा भी हाथ लगी।

अब एक बार फिर लोकसभा चुनाव की तारीख का एलान होने के साथ ही पूर्व राजपरिवारों के सदस्यों ने कांग्रेस

और भाजपा के टिकट पर चुनाव मैदान में उतरने को लेकर प्रयास शुरू कर दिए है ।

इन पूर्व राजपरिवारों के सदस्य लड़ना चाहते है चुनाव

जयपुर पूर्व राजपरिवार की सदस्य और भाजपा की पूर्व विधायक दीया कुमारी जयपुर शहर से लोकसभा चुनाव लड़ना

चाहती है। इसके लिए उन्होंने जयपुर से लेकर दिल्ली तक भाजपा के बड़े नेताओं से मुलाकात कर अपनी दावेदारी पेश

की है। दीयाकुमारी पिता स्व.भवानी सिंह एक बार कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ चुके है,हालांकि उन्हे हार का मुंह

देखना पड़ा था। अलवर पूर्व राजपरिवार के पूर्व सदस्य भंवर जितेन्द्र सिंह अलवर संसदीय सीट से एक बार फिर चुनाव

मैदान में उतर रहे है।

साल,2009 में अलवर से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीतकर मनमोहन सिंह सरकार में रक्षा राज्यमंत्री रहे जितेन्द्र सिंह

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के निकट माने जाते है। कोटा राजपरिवार के पूर्व सदस्य इज्यराज सिंह भाजपा के टिकट

पर कोटा संसदीय सीट से चुनाव लड़ना चाहते है। वे साल,2009 के चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर सांसद निर्वाचित हुए थे।

लेकिन करीब तीन माह पूर्व संपन्न विधानसभा चुनाव में कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल होने वाले इज्यराज सिंह की

पत्नी कल्पना सिंह ने बीजेपी के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ा था।

अब इज्यराज सिंह बीजेपी के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ना चाहते है। वहीं उदयपुर के पूर्व राजपरिवार के सदस्य

लक्ष्यराज सिंह चित्तोड़गढ़ संसदीय सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ना चाहते है। विधानसभा अध्यक्ष डॉ.सी.पी.जोशी

और भंवर जितेन्द्र सिंह लक्ष्यराज सिंह को चुनाव लड़ाने की पैरवी कर रहे है।

जोधपुर पूर्व राजपरिवार की पूर्व सदस्य शिवरंजनी जोधपुर संसदीय सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ना चाहती है।

वहीं भीड़र पूर्व राजपरिवार के सदस्य रणधीर सिंह भीड़र चित्तोड़गढ़ अथवा राजसमंद में से किसी एक सीट पर भाजपा के

टिकट पर चुनाव लड़ना चाहते है। पूर्व सीएम वसुंधरा राजे उनकी पैरवी कर रही है। धौलपुर पूर्व राजपरिवार के सदस्य

दुष्यंत सिंह एक बार फिर झालावाड़ सीट से भाजपा के टिकट पर चुनाव मैदान में उतरने की तैयारी कर रहे है।

वर्तमान में वे सांसद है।