वनडे मैच में बल्लेबाजों ने ठोके 48 छक्के और 70 चौके, दोनों पारियों में बने 800 से ज्यादा रन

0
0

कहा जाता है कि क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है, ये सच बात है। ऐसा इसलिए भी है, क्योंकि कुछ गेंदों में मैच पलट सकता है, जबकि पहले मैच में शतक मारने वाला खिलाड़ी बिना खाता खोले भी आउट हो सकता है। यही इस खेल का रोमांच है, जिसे लोग पसंद करते हैं। हालांकि, बांग्लादेश में जो वनडे मैच में देखने को मिला है वो काफी हैरान करने वाला है।

दरअसल, बांग्लादेश में 50 ओवरों के एक सेकेंड डिविजन मैच में बल्लेबाजों ने 48 छक्के और 70 चौके लगाए,
जबकि इस मैच में कुल 818 रन बने। नॉर्थ बंगाल क्रिकेट अकादमी ने यह मैच 46 रन से जीता। उसने पहले बल्लेबाजी करते हुए चार विकेट पर 432 रन बनाए। जवाब में टैलेंट हंट क्रिकेट अकादमी सात विकेट पर 386 रन ही बना सकी। नॉर्थ बंगाल के खिलाडि़यों ने 27 और विरोधी टीम ने 21 छक्के लगाए।

ऐसा पहली बार नहीं है जब बांग्लादेश में ऐसा कुछ देखने को मिला है। यहां के घरेलू मैचों में कई
बार अप्रत्याशित नतीजे निकलते रहते हैं, जो सुर्खियां बनते हैं। यही वजह है कि यहां मैच
फिक्सिंग के आरोप आम हैं।
इस बारे में स्थानीय क्लब क्रिकेट आयोजक सैयद अली असफ ने इस पर कहा, “यह हैरान करने वाला है।
मैं ढाका के घरेलू क्रिकेट से जुड़ा हुआ हूं और वर्षों से देखते आ रहा हूं, लेकिन इससे पहले मैंने ऐसा कुछ कभी नहीं देखा।”

यहां मैच फिक्सिंग सामान्य बात है। इससे पहले 2017 में यहां एक मैच के दौरान एक गेंदबाज ने
वाइड और नो बॉल से 92 रन दे डाले थे। उस पर 10 वर्ष का प्रतिबंध लगा था।
ऐसे ही कई और मामले भी हैं।
यहां तक कि अंपायर तक पर पक्षपात पर आरोप लग चुके हैं। ऐसे में इस तरह का प्रदर्शन एक
एकदिवसीय मैच में होना कोई बड़ी बात नहीं है, जिसमें गेंदबाज और बल्लेबाज दोनों दोयम दर्जे के होते हैं।