शायरी:दोस्त

0
1

खुद पे भरोसा है तो खुदा साथ है!
अपनो पे भरोसा है तो दुआ साथ है!
जिदंगी से हारना मत ऐ दोस्त,
ज़माना हो ना हो ये दोस्त तेरे साथ है!