शायरी

0
1

ऐ दोस्त ? मत कर इन हसीनाओं से ? मोहब्बत;
वह आँखों ? और बातों ?️ से वार करती हैं;
मैंने तेरी वाली की आँखों ? में देखा है;
वो मुझसे भी प्यार ? करती है।