शिवराज का ऐलान: MP में गायों की रक्षा के लिए बनेगा गो मंत्रालय

0
24

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी खुद को गो माता के रक्षक के तौर पर पेश किया है. शिवराज सिंह ने गोरक्षा और संवर्धन के लिए स्वतंत्र गो मंत्रालय बनाने की ऐलान किया है.

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में गाय बड़ा मुद्दा बनती जा रही है. कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने खुद को गाय के हितैषी के तौर पर पेश किया है. शिवराज ने खजुराहो में राज्य में गोरक्षा और उनके संवर्धन के लिए गो मंत्रालय बनाने का ऐलान किया है. फिलहाल, सूबे में गो संवर्धन बोर्ड है. अब इसकी जगह पर मंत्रालय होगा. इससे पहले, कमलनाथ ने एमपी के हर गांव में गोशाला बनाने की बात कही थी.

हर घर में बने गोशाला

मुख्यमंत्री ने रविवार को खजुराहो में ‘आचार्य विद्यासागर जीव दया सम्मान समारोह’ में शामिल हुए। वहां उन्होंने कहा कि हर घर में छोटी-छोटी गोशाला बनाने की जरुरत है और इससे गो माता की सही मायनों में सेवा करने का पुरुषार्थ मिलेगा और इससे बड़ी क्रांति आ सकती है.

उन्होंने कहा, ‘गोशाला और अभयारण्य में बूढ़ी गायें आती हैं और देखभाल की कमी के चलते इनकी मौत भी हो जाती है. ऐसी गायों के समय पर इलाज समेत अन्य इंतजाम कराए जाएंगे.’ शिवराज के मुताबिक मंत्रालय बनने से गोसेवा और संवर्धन का काम बेहतर तरीके से किया जा सकेगा.

खजुराहो को नई पहचान देने की कोशिश

मध्य प्रदेश के सीएम ने कहा कि स्वर्णोदय तीर्थ न्यास बनाने की कोशिश ऐतिहासिक है. इसके बनने के बाद खजुराहो को स्वर्णोदय तीर्थ के रूप में नई पहचान मिलेगी.

मध्य प्रदेश के वित्तमंत्री जयंत मलैया ने राज्य सरकार द्वारा जैन तीर्थों के विकास और संवर्धन के लिए किए जा रहे कामों की जानकारी दी. इस मौके पर मुख्यमंत्री ने विभिन्न संस्थाओं को ‘आचार्य विद्यासागर जीव दया सम्मान’ से सम्मानित किया.