शेरो -शायरी Part – 2

0
18
  1. उमर ए दराज मांग कर लाये थे चार दिन,

दो असू में कट गए, दो इंतजार में ।

TECH$$$$$$CHAKIT 👈 क्लिक करें

2.उन्हें बस रोशनी ही रोशनी की चाहत थी,
हम अपना दिल ना जलाते तो और क्या करते।


3. मेरे दिल की धड़कन भी आप है,
साँसे भी आप है,
लगता है हमको ऐसा कि तसब्बुर में मेरे सिर्फ आप ही आप है।

4. मेरे महबूब को किसी की लगी है नज़र,
होता नही उनपे मेरी उलफत का असर।