सऊदी अरब ने दिसंबर में दुनिया के बाजारों में अपनी तेल आपूर्ति को 0.5 मिलियन बैरल प्रति दिन (बीपीडी) तक कम करने की योजना बनाई है

0
4

नई दिल्ली। कच्चे तेल के सबसे बड़े निर्यातक देश सऊदी अरब की ओर से दिसंबर तक आपूर्ति में कटौती की घोषणा के कारण सोमवार को क्रूड की कीमतों में 1 फीसद से ज्यादा का उछाल देखने को मिला। सऊदी अरब की ओर से यह फैसला कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट को थामना है जो कि अक्टूबर की शुरुआत से 20 फीसद तक गिर चुकी हैं।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि दुनिया में दो तरह के क्रूड ऑयल की आपूर्ति होती है। एक डब्ल्यूटीआई क्रूड और दूसरा ब्रेंट क्रूड। डब्ल्यूटीआई क्रूड की कीमत इस समय (1 बजकर 5 मिनट पर) 61.10 डॉलर प्रति बैरल और ब्रेंट क्रूड की कीमत 71.62 डॉलर प्रति बैरल है।

आज दिन के कारोबार में अमेरिकी वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट (डब्ल्यूटीआई) क्रूड 60.87 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था जो कि 68 सेंट्स यानी 1.1 फीसद की तेजी है। सऊदी अरब ने दिसंबर में दुनिया के बाजारों में अपनी तेल आपूर्ति को 0.5 मिलियन बैरल प्रति दिन (बीपीडी) तक कम करने की योजना बनाई है। यह जानकारी यहां के ऊर्जा मंत्री ने दी है।

खालिद-अल फालिह ने पत्रकारों को बताया कि नवंबर के मुकाबले दिसंबर में सऊदी अरामको के कस्टमर नामिनेशन्स में 500,000 बीपीडी की गिरावट आएगी। यह कटौती बताता है कि वैश्विक आपूर्ति में करीब 0.5 फीसद की गिरावट देखने को मिलेगी। गौरतलब है कि सऊदी अरब पेट्रोलियम निर्यात करने वाले देशों (ओपेक) के संगठन का अग्रणी नेता है।

तेल की घटती कीमतों को फिर से बढ़ाने के लिए दुनिया के प्रमुख तेल उत्पादकों की एक अहम बैठक से पहले सऊदी अरब का यह फैसला महत्वपूर्ण है। ओपेक और गैर-ओपेक तेल उत्पादक देशों की बैठक से पहले हालांकि फालिह ने कहा कि अब तक व्यापक तौर पर उत्पादन कटौती पर कोई आम सहमति नहीं बन पाई है।