सट्टेबाजी के आरोप में केपीएल टीम का मालिक गिरफ्तार, संपर्क में थे 12 खिलाड़ी!..

0
4
टीम

कर्नाटक प्रीमियर लीग (KPL) में सट्टेबाजी का मामला सामने आया है। इसमें केपीएल की एक टीम के मालिक को गिरफ्तार कर लिया गया है। अगस्त महीने में आयोजित हुए कर्नाटक प्रीमियर लीग की टीम बेलगावी पैंथर्स के मालिक अशफाक अली थारा को सट्टेबाजी में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

कर्नाटक राज्य क्रिकेट संघ (केएससीए) ने केपीएल टूर्नामेंट आजोजित कराया था, जो 16 अगस्त से 31 अगस्त तक खेला गया था। इसी टूर्नामेंट में एक टीम यात्रा और पर्यटन व्यवसायी अशफाक अली थारा की थी। अशफाक ने साल 2017 में बेलगावी पैंथर्स टीम को खरीदी था। अब केंद्रीय अपराध शाखा यानी CBB ने अशफाक अली थारा को अरेस्ट किया है।

12 खिलाड़ी थे संपर्क में!

सीसीबी ने अशफाक अली थारा से कई दिनों तक पूछताछ की और फिर बेंगलुरु से उनको गिरफ्तार कर लिया गया। अशफाक अली थारा के अलावा केपीएल से जुड़ी अन्य टीमों के खिलाड़ियों से भी पूछताछ की जा रही है।
रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि केपीएल के 12 खिलाड़ी भी संदेह के घेरे में हैं, जो सट्टेबाजी के लिए अशफाक के
साथ कथित रूप से शामिल थे।

उधर, बेंगलुरु के ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर (क्राइम) संदीप पाटिल ने कहा है,
“CCB ने KPL में सट्टेबाजी स्कैम

का खुलासा किया है। बेलगावी पैंथर्स टीम के मालिक अशफाक अली थारा मैचों पर सट्टा लगा रहे थे।
अशफाक ने दुबई के बुकी के साथ सट्टेबाजी को अंजाम दिया। मैच फिक्सिंग को
लेकर अभी पूछताछ जारी है। अशफाक केपीएल के दौरान अन्य टीमों के खिलाड़ियों के संपर्क में थे,
वैसे खिलाड़ियों की भी जांच की जा रही है।’

इन सात टीमों ने खेला था टूर्नामेंट

कर्नाटक प्रीमियर लीग में दक्षिणी राज्य के प्रमुख शहरों और कस्बों की सात टीमों ने भाग लिया था,
जिसमें भारतीय टीम के कई खिलाड़ी खेले थे। केपीएल 2019 में खेलने वाली सात टीमों में बेंगलुरु ब्लास्टर्स,
बेल्लारी टस्कर्स, बीजापुर बुल्स, हुबली टाइगर्स, मैसूरु वॉरियर्स, नम्मा शिवमोगा और बेलगावी पैंथर्स टीम का नाम शामिल है।