सबसे पहले NIOS की आधिकारिक वेबसाइट dled.nios.ac.in पर विजिट करना होगा। इसके बाद अपना रजिस्ट्रेशन नंबर और जन्मतिथि लिखिए। View Result पर क्लिक कीजिए। आपका NIOS D.El.Ed खुल जाएगा। रिजल्ट को डाउनलोड या फिर इसका प्रिंट आउट भी ले सकते हैं। अगर कोई छात्र अपने रिजल्ट से संतुष्ट नहीं हो तो वह अपनी आंसरशीट की रि चेकिंग भी करवा सकते हैं।

0
0

दिल्ली के साथ के राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के शहरों गुरुग्राम, फरीदाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, पानीपत, रेवाड़ी, पलवल,

बल्लभगढ़ और गाजियाबाद में थोड़ी देर बाद बारिश हो सकती है।

इससे पहले शुक्रवार सुबह से ही धूल का गुबार छाया हुआ था।

भारतीय मौसम विभाग (Indian Meteorological Department ) ने पहले ही पूर्वानुमान जता दिया है

कि शुक्रवार को दिल्ली-एनसीआर के ज्यादातर इलाकों में हल्की बारिश होगी।

इससे पहले बृहस्पतिवार को लगातार तीसरे दिन हुई बारिश से लोगों को गर्मी से राहत मिली। आंशिक रूप से छाए बादलों के

कारण तापमान भी सामान्य से कम दर्ज किया गया। शुक्रवार को भी ऐसा ही मौसम रहने की उम्मीद है।

लेकिन शनिवार-रविवार से दोबारा गर्मी बढ़ने के आसार हैं। बृहस्पतिवार को सुबह सात से आठ बजे के

बीच कई जगहों पर तेज हवा के साथ बारिश हुई। हालांकि बाद में मौसम साफ हो गया।

अधिकतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री कम 36.7 डिग्री सेल्सियस रहा, जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से 3

डिग्री कम 23.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हवा में नमी का स्तर अधिकतम 89 और न्यूनतम 46 फीसद रहा।

सुबह साढ़े 8 बजे तक 2.2 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई।

मौसम का मिजाज अचानक बदल गया है। बुधवार सुबह बादलों की तेज गड़गड़ाहट के साथ शुरू हुई बूंदाबांदी तेज

बारिश में तब्दील हो गई। गेहूं की पछेती फसल के लिए बेमौसम बारिश आफत बनकर बरसी। बारिश व तेज हवाओं

के झोकों ने खेतों में चल रही गेहूं की फसल की कटाई के कार्य को प्रभावित कर दिया। मौसम खुलने के बाद फसल

की कटाई के साथ गेहूं व भूसे का भंडारण करने के लिए किसान परेशान दिखे।

प्रकृति के रूठने के संकेत देख किसानों की चिंता बढ़ी हुई है।

तीन वर्ष पहले ओलावृष्टि से हुई क्षति से सहमे किसान एक बार फिर मौसम को देख कटाई का कार्य अतिशीघ्र

संपन्न करने की जुगत में जुटे हुए हैं।