सिर्फ दो शहरों में मई में शुरू हो सकता है IPL, BCCI के अधिकारी ने किया खुलासा

0
1

Coronavirus Pandemic की वजह से देश में इस समय लॉक डाउन की स्थिति है। यही कारण है कि इंडियन प्रीमियर लीग यानी आइपीएल का 13वां संस्करण का भाग्य भी अधर में लटका हुआ है, क्योंकि सार्वजनिक स्वास्थ्य प्राथमिकता है। आइपीएल 2020 को पहले ही स्थगित किया हुआ है, लेकिन अब क्रिकेट प्रेमियों के लिए एक अच्छी खबर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआइ की ओर से आ रही है।

बीसीसीआई की मानें तो अगर कोरोना वायरस की स्थिति अप्रैल के आखिर तक नियंत्रण में होती है तो फिर मई के पहले हफ्ते में आइपीएल 2020 की शुरुआत हो सकती है। आइएएनएस से बात करते हुए एक बीसीसीआइ के अधिकारी ने कहा है कि मौजूदा समय में आइपीएल के बारे में सोचना काफी कठिन है, बोर्ड अभी भी लीग का आयोजन उस पैटर्न(एक दिन में दो मैच) से कर सकता है, जिसका अनुसरण दक्षिण अफ्रीका में खेले गए टूर्नामेंट के दौरान किया गया था, लेकिन इस स्थिति में भी आइपीएल का पहला मैच मई की शुरुआत में हो जाना चाहिए।

अगर आइपीएल 2020 का पहला मैच मई के पहले सप्ताह में नहीं खेला जाता है तो फिर इस साल लीग का
आयोजन करना असंभव है। यहां तक कि अगर हमें सभी प्रक्रियाओं का पालन करने के लिए अप्रैल के
अंत तक इंतजार करना पड़ता है, तो हम दक्षिण अफ्रीका संस्करण से एक क्यू ले सकते हैं और
सफलतापूर्वक लीग आयोजित कर सकते हैं। अगर आपको याद हो तो वो दिनों के हिसाब से सबसे छोटा आइपीएल था। 2009 में साउथ अफ्रीका में 37 दिनों में 59 मैच खेले गए थे। ऐसा ही इस बार कर सकते हैं,
लेकिन कुछ उपाय जरूर करने होंगे।

उपायों के बारे में पूछे जाने पर अधिकारी ने कहा, “आप इस तरह के परिदृश्य में पूरे देश
में यात्रा नहीं कर सकते।
अगर हमको अनुमति मिलता है तो हमको महाराष्ट्र जैसी जगह पर आइपीएल आयोजित कराना होगा,
जहां 3 स्टेडियम मुंबई और एक स्टेडियम पुणे में है। मुझे यकीन है कि इसके बाद
हमें यह सुनिश्चित करने में
मदद मिलेगी कि टीमों को न केवल खेलने के लिए नए विकेट मिलें,
बल्कि इसमें न्यूनतम यात्रा भी शामिल हो।
हालांकि, इससे
पहले सरकार को टूर्नामेंट आयोजित करने के लिए उपयुक्त होना चाहिए। जनता और खिलाड़ियों
की सुरक्षा बीसीसीआई की
प्राथमिकता है, जिसकी बात हम पहले से कर रहे हैं।”

खेल मंत्री किरण रिजिजू ने हाल ही में इस बात का ऐलान किया था कि आइपीएल के 13वें सीजन का
भाग्या 15 अप्रैल को नई एडवाइजरी जारी होने के बाद तय होगा। 15 अप्रैल के बाद कोरोना वायरस
की स्थिति साफ हो पाएगी और नई एडवाइजरी जारी होगी। खेल मंत्री ने कहा था कि बीसीसीआई
को क्रिकेट के मसलों पर बात कर सकती है, अन्य खेलों पर नहीं। हमें देश के लोगों को प्रोटेक्ट करना है।