स्वास्थ्य मंत्री ने किया अनदेखा , छत्तीसगढ़ में राहुल के सामने मितानिन मांग रही थी सैलरी…

0
2

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी शुक्रवार को यूनिवर्सल हेल्थ केयर पर आयोजित एक कार्यशाला में हिस्सा लेने रायपुर पहुंचे।

कार्यशाला में उन्होंने चिकित्सा क्षेत्र के विशेषज्ञों से राय लेते हुए कहा कि हम सबके स्वास्थ्य के लिए एक उचित स्वास्थ्य

योजना लेकर आना चाहते हैं। आपके सुझावों के आधार पर योजना तैयार की जाएगी।

इस दौरान राहुल ने चिकित्सा क्षेत्र के विशेषज्ञों के सवाल जवाब सुनते हुए कहा कि मैं ये बताने नहीं आया कि मेरे पास

सब सवालों का जवाब है। मैं तो आपसे पूछने आया हूं। हां, यदि आप पॉलिटिक्स के बारे में पूछना चाहते है, तो मैं

आपसे ज्यादा बता सकता हूं। कांग्रेस और भाजपा में यही फर्क हैं। हम आपकी आवाज सुनना चाहते है।

आपके सुझाव पर काम करना चाहते है। मेरे पास व्यूज हैं, लेकिन हम जनता के मन की बात सुनकर काम करना चाहते हैं।

इस दौरान एक मितानिन ने पूछा कि हमारे कंपनसेशन का क्या होगा। राहुल ने माइक को स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव

की तरफ बढा दिया। सिंहदेव ने कहा कि, मिलेगा। राहुल ने हंसते हुए कहा ये राजनीतिक जवाब हुआ। तब मंत्री टीएस

सिंहदेव ने भी मुस्कुराते हुए कहा कि हां मुआवजा जरूर मिलेगा। इसके बावजूद मितानिन सैलरी से संबंधित प्रश्न दोहराती रही,

इस पर राहुल ने कहा कि मंत्री कह तो रहे हैं कि मुआवजा दे दिया जाएगा और मितानिन की बात को राहुल गांधी समेत

वहां मौजूद मंत्री ने अनदेखा कर दिया।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आयुष्मान भारत योजना की आलोचना करते हुए कहा कि केंद्र सरकार बीमा दे रही है,

लेकिन अस्पताल का स्ट्रक्चर ही नहीं है तो इलाज कैसे कराएंगे। राहुल ने कहा कि कांग्रेस का फोकस स्वास्थ्य और पढ़ाई

पर रहेगा। एक एनजीओ की महिला प्रतिनिधि ने कहा कि स्मार्ट कार्ड सुविधा तो चल रही है, लेकिन उसका लाभ नहीं

मिल पाता है मरीजों को अलग से पैसे खर्च करने पड़ते हैं कांग्रेसी क्या व्यवस्था करेगी।