36 साल के एंडरसन ने रिटारमेंट के कयासों को किया खारिज, चयनकर्ताओं की यह गुजारिश

0
14

जेम्स एंडरसन ने अपने संन्यास के सवालों का जवाब इंग्लैंड के चयनकर्ताओं से एक निवेदन करते हुए दिया है कि वे आगे दौरों के लिए तैयार है

लंदनभारत और इंग्लैंड के बीच हुई टेस्ट सीरीज में चर्चित रहे इंग्लैंड के 36 साल के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन अब दुनिया के सबसे सफल तेज गेंदबाज बन गए हैं. एंडरसन ने सीरीज का आखिरी विकेट लेते ही ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ग्लेन मैकग्रा का रिकॉर्ड तोड़ते हुए अपने टेस्ट करियर केा 564वां विकेट लिया. इस रिकॉर्ड के बाद, उनकी उम्र और साथी खिलाड़ी एलिस्टर कुक के रिटायरमेंट पर, एंडरसन ने कहा कि वे संन्यास के बारे में नहीं सोच रहे हैं. एंडरसन ने चयकर्ताओं से उन्हें शीतकालीन दौरों के लिए आराम न देने का आग्रह किया है.

एंडरसन ने चयनकर्ताओं से कहा कि वे श्रीलंका और वेस्टइंडीज दौरे में से किसी एक भी दौरे पर आराम नहीं चाहते हैं. अगले महीने ही इंग्लैंड को श्रीलंका के दौरे पर जाना है जहां इंग्लैंड को पांच वनडे, एक टी20 और तीन टेस्ट मैच खेलने हैं. इसके बाद 15 जनवरी से इंग्लैंड का वेस्टइंडीज दौरे शुरू हो रहा है. इस दौरे पर इंग्लैंड तीन टेस्ट, पांच वनडे और तीन टी20 मैचों की सीरीज खेलेगी.

‘काफी समय है मेरे और ब्रॉड के पास’
अपने करियर में 143 टेस्ट मैच खेल चुके एंडरसन ने कहा, “मैं और स्टुअर्ट व्हाइट बॉल क्रिकेट नहीं खेलते हैं और हमारे पास मानसिक और शारीरिक रूप से अगली सीरीज के लिए खुद को सही हाल में रखने का समय है. मुझे ऐसा लगता है कि मेरे पास टेस्ट सीरीज से पहले पूरी तरह से बेहतर होने का समय है.”

View image on Twitter
मैकग्रा ने चुनौती देकर एंडरसन में भरा जोश

वहीं एंडरसन के रिकॉर्ड बनने पर ऑस्ट्रेलिया के पूर्व गेंदबाज ग्लेन मैकग्रा ने खुशी जाहिर करते हुए उन्हें टेस्ट क्रिकेट में 600 विकेट लेने वाला पहला तेज गेंदबाज बनने की चुनौती देकर जोश भरने की कोशिश है. बीबीसी ने 48 वर्षीय मैकग्रा के हवाले से बताया, “अगर एंडरसन अपनी विकेट की संख्या को 600 तक बढ़ा देते हैं तो यह शानदार उपलब्धि होगी.” मैकग्रा का रिकॉर्ड तोड़ने के बाद एंडरसन की उम्र को देखते हुए उनके रिटायरमेंट के समय को लेकर भी चर्चा होने लगी थी.

मैकग्रा ने कहा, “जब तक यह रिकॉर्ड मेरे नाम था तब तक मुझे गर्व महसूस होता था और एंडरसन जैस किसी गेंदबाज का मेरा रिकॉर्ड तोड़ना शानदार है. मैं जिमी का बहुत सम्मान करता हूं, वह लंबे समय से बेहतरीन गेंदबाजी करते आ रहे हैं. 140 टेस्ट मैच खेलना और लगातार शीर्ष पर बने रहना अतुल्य है, मुझे उन पर गर्व है.”

टेस्ट क्रिकेट में सबसे अधिक विकेट लेने का रिकॉर्ड श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन (800 विकेट) के नाम है. ऑस्ट्रेलिया के महान स्पिनर शेन वॉर्न (708 विकेट) दूसरे और भारत के अनिल कुंबले (619) तीसरे पायदान पर मौजूद हैं.