Coronavirus Effect: एम्स में वीडियो कंसल्टेशन से डॉक्टर करेंगे इलाज ….

0
0
AIIMS

वैश्विक महामारी कोरोना के कारण अस्पतालों में ओपीडी सेवा प्रभावित है। एम्स की ओपीडी में कोई
मरीज नहीं देखे जा रहे हैं। 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा के बाद हृदय, न्यूरो, कैंसर सहित कई
बीमारियों से पीड़ित मरीजों की मुश्किलें बढ़ गईं हैं। इस वजह से एम्स फोन के जरिये व वीडियो कंसल्टेंशन
के माध्यम से पुराने मरीजों को चिकित्सकीय परामर्श शुरू करने पर विचार कर रहा है। एम्स में कुछ साल
पहले वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये कंसल्टेंशन की सुविधा शुरू की गई थी। इसके लिए मरीजों को पहले
एप्वाइंटमेंट लेना पड़ता था।

निर्धारित तिथि पर एम्स के डॉक्टर ऑनलाइन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये पुराने मरीजों को परामर्श
देते थे। इसे दूसरे राज्यों से इलाज के लिए एम्स पहुंचने वाले मरीजों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए
शुरू किया गया था। इसके पीछे सोच यह थी कि मरीजों को फॉलोअप के लिए यहां आना न पड़े। लेकिन
कुछ तकनीकी कारणों से इसे ज्यादा बढ़ावा नहीं मिल पाया। संस्थान के कंप्यूटरीकरण कमेटी से जुड़े एक
वरिष्ठ डॉक्टर ने कहा कि ओपीडी सेवा बंद होने के बाद एम्स प्रशासन वीडियो व टेली कंसल्टेंशन शुरू
करने पर गंभीरता से विचार कर रहा है।

एम्स के एक वरिष्ठ डॉक्टर ने बताया कि कई विभाग अपने पुराने मरीजों को फोन पर चिकित्सकीय
परामर्श देना शुरू कर चुके हैं। न्यूरोलॉजी के मरीजों को भी डॉक्टर फोन पर सलाह देना शुरू कर
चुके हैं। दरअसल, पुराने मरीजों का फोन नंबर एम्स के पास मौजूद होता है। उन नंबरों पर कॉल कर
डॉक्टर मरीजों को उचित सलाह दे रहे हैं। इस तरह की सुविधा कार्डियोलॉजी सहित कई विभागों में
शुरू की जाएगी।