CWC 2019: कोहली का मुरीद हुआ ये ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज, कह दी बड़ी बात

0
0

स्मिथ ने श्रीलंका के खिलाफ खेले गए मैच के बाद कहा, विराट ने जो किया वो बेहतरीन था. मैं ईमानदारी से कहूं तो भीड़ क्या कहती है मुझे फर्क नहीं पड़ता. मैं सिर्फ इन चीजों को ब्लॉक करता हूं, लेकिन कोहली ने जो किया वो लाजबाव था.

भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीमें जब आईसीसी विश्व कप-2019 के मैच में भिड़ी थीं तब विराट कोहली ने स्टीव स्मिथ का मजाक उड़ा रहे प्रशंसकों को चुप रहने और ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज की सराहना करने कहा था. अब स्मिथ ने कोहली के उस कदम को लाजबाव बताया है.

स्मिथ ने श्रीलंका के खिलाफ खेले गए मैच के बाद कहा, ‘विराट ने जो किया वो बेहतरीन था. मैं ईमानदारी से कहूं तो भीड़ क्या कहती है मुझे फर्क नहीं पड़ता. मैं सिर्फ इन चीजों को ब्लॉक करता हूं, लेकिन कोहली ने जो किया वो लाजबाव था.’

स्मिथ और डेविड वॉर्नर पर बीते साल मार्च में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले गए मैच में टेस्ट मैच में बॉल टेम्परिंग के कारण एक साल का प्रतिबंध लग गया था. यह दोनों एक साल के प्रतिबंध के बाद विश्व कप में खेलने आए हैं.

उल्लेखनीय है कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 9 जून को खेले गए मुकाबले के दौरान कुछ भारतीय प्रशंसकों ने स्मिथ को हूट करने की कोशिश की थी लेकिन कोहली ने उन्हें ऐसा करने से रोका था. बाद में कोहली ने कहा था कि किसी खिलाड़ी के प्रति भारतीय दर्शकों का ऐसा बर्ताव देश का नाम खराब करता है.

क्या था पूरा मामला?

बता दें कि वर्ल्ड कप के एक अहम मुकाबले में जब भारतीय प्रशंसक ऑस्ट्रेलियाई टीम की

फिल्डिंग के दौरान उनका मजाक उड़ा रहे थे जिसे अंग्रेजी में ‘वू’ करना कहा जाता है,

तब कोहली ने प्रशंसकों पर अपना गुस्सा जाहिर किया और स्मिथ को सराहने को कहा था.

स्मिथ जब ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान हुआ करते थे, तब बीते साल मार्च में दक्षिण अफ्रीका के

खिलाफ केपटाउन में खेले गए टेस्ट मैच में गेंद से छेड़छाड़ में फंस गए थे.

इसी के चलते क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) ने उन पर एक साल का प्रतिबंध लगाया था.

प्रतिबंध के बाद स्मिथ ने वापसी की है, लेकिन लगातार अतीत का साया उनके साथ चल रहा है,

प्रशंसकों की आवाजों के साथ.

कोहली जब ऑस्ट्रेलिया के सामने बेहतरीन बल्लेबाजी कर रहे थे तब उन्होंने स्मिथ के खिलाफ आवाजें सुनी.

अपनी जाहिर आक्रामकता के लिए मशहूर कोहली ने तुरंत प्रशंसकों की तरफ इशारा

कर उन्हें चुप रहने और स्मिथ को सराहने को कहा.

मैच के बाद कोहली ने कहा था, ‘क्योंकि यहां कई सारे भारतीय प्रशंसक थे इसलिए मैं नहीं चाहता था

कि वह एक बुरी नजीर देकर यहां से जाए. ईमानदारी से कहूं तो उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया है,

जिसके कारण उन्हें ताने सुनने पड़े.’

भारतीय कप्तान ने कहा था, ‘वह सिर्फ क्रिकेट खेल रहे हैं.

वो वहां खड़े हुए थे और मुझे यह देखकर काफी बुरा लगा क्योंकि अगर मैं उस स्थिति में होता जहां मेरे

साथ कुछ हुआ होता और मैं इसके लिए माफी मांग चुका होता और मैं वापस आकर खेल रहा होता,

फिर मेरे ऊपर छींटाकशी की जाती तो मुझे पसंद नहीं आता.’

उन्होंने कहा था, ‘इसलिए मुझे उनके लिए बुरा लगा और मैंने उनसे कहा कि मैं इन सभी की

तरफ से आपसे माफी मांगता हूं क्योंकि मैंने देखा है कि ऐसा पहले भी काफी मैचों में हो चुका है

और मेरे विचार में यह सही नहीं है.’