इन 4 कारणों की वजह से IPL 2021 का पहला मैच हारी मुंबई इंडियंस..

0
3
Mumbai Indians weaknesses
Sports

IPL 2021: इंडियन प्रीमियर लीग यानी आइपीएल के 14वें सीजन के पहले मैच में मुंबई इंडियंस को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर यानी आरसीबी के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा। आखिरी गेंद तक चले रोमांचक मैच में मुंबई इंडियंस को दो विकेट से हार का सामना करना पड़ा। मुंबई की टीम की हार की वजह क्या रही? इस बारे में भी आपका जानना जरूरी है कि आखिर टीम से क्या गलती हुई।

रोहित का रन आउट पड़ा भारी

कप्तान रोहित शर्मा ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज क्रिस लिन के साथ पारी की शुरुआत करने उतरे। रोहित शर्मा लय में नजर आ रहे थे, लेकिन लिन थोड़ा संघर्ष कर रहे थे। इस दौरान क्रिस लिन और रोहित शर्मा के बीच थोड़ी सी गलतफ़हमी हुई और रोहित शर्मा रन आउट हो गए। अक्सर जब कोई पहली बार एक-दूसरे के साथ बल्लेबाजी करता है तो इस तरह की चीजें घट जाती हैं। ऐसा ही रोहित और लिन के बीच हुआ। इसका असर टीम के स्कोर पर पड़ा।

मैच फिनिशर पड़े फीके

एक समय मुंबई इंडियंस का स्कोर 10 ओवर में 1 विकेट के नुकसान पर 86 रन था, लेकिन अगल दस ओवर में टीम सिर्फ 73 रन ही बना सकी। हार्दिक पांड्या, किरोन पोलार्ड और क्रुणाल पांड्या जैसे खिलाड़ी मैच फिनिशर की भूमिका नहीं निभा सके। यही कारण रहा कि टीम अच्छे स्कोर तक नहीं पहुंच सकी। अगर टीम 159 रन में 15-20 रन और जोड़ने में सक्षम हो जाती है तो फिर टीम के पास अच्छा टोटल डिफेंड करने का मौका होता।

हार्दिक से नहीं कराई गेंदबाजी

मुंबई इंडियंस के साथ लगभग सब कुछ सही घट रहा था। कप्तान रोहित शर्मा ने पांच गेंदबाजों (जसप्रीत बुमराह, ट्रेंट बोल्ट, मार्को जैनसेन, राहुल चाहर और क्रुणाल पांड्या) से गेंदबाजी कराई। रोहित ने हार्दिक पांड्या का इस्तेमाल एक भी ओवर के लिए नहीं किया। यहां तक कि राहुल चाहर थोड़े महंगे साबित हो रहे थे, लेकिन रोहित शर्मा ने पांड्या से गेंदबाजी नहीं कराई। अगर वे आखिरी के कुछ ओवरों में एक या दो ओवर फेंकते तो नजीता बदल सकता था।

19वें ओवर में पलटी बाजी

वैसे तो जसप्रीत बुमराह डेथ ओवर्स में गेंदबाजी के लिए जाने जाते हैं, लेकिन आरसीबी के खिलाफ अपने कोटे का आखिरी ओवर करने और मैच का लगभग निर्णायक ओवर करने मैदान पर उतरे तो वे महंगे साबित हुए। हालांकि, इससे पहले उन्होंने शानदार गेंदबाजी की थी, लेकिन 19वें ओवर में बुमराह ने 12 रन दिए। हालांकि, एक विकेट भी निकाला, लेकिन फिर आखिरी के ओवर में डिफेंड करने के लिए सिर्फ 6 रन बाकी थे।