ISSF World Cup: मनु भाकर-सौरभ चौधरी की जोड़ी ने साधा स्‍वर्ण पर निशाना

0
2

मनु और सौरभ की जोड़ी ने बुधवार को 10 मीटर एयर पिस्टल मिश्रित टीम इवेंट का स्वर्ण पदक अपने नाम किया. इस जोड़ी ने फाइनल में 483.4 का स्कोर करते हुए सोने के पदक (Gold Medal)पर कब्‍जा जमाया. इस इवेंट का रजत पदक चीन की रैनझिन जियांग और बोवेन झांग की जोड़ी ने जीता, चीनी जोड़ी ने 477.7 का स्कोर किया.

नई दिल्ल

(ISSF World Cup) में भारत की मनु भाकर (Manu Bhaker)और सौरभ चौधरी (Saurabh Chaudhary)की जोड़ी ने स्‍वर्ण पदक जीता है. इस जोड़ी ने बुधवार को 10 मीटर एयर पिस्टल मिश्रित टीम इवेंट (10m Air Pistol Mixed Team Event)का स्वर्ण पदक अपने नाम किया. इस जोड़ी ने फाइनल में 483.4 का स्कोर करते हुए सोने के पदक (Gold Medal)पर कब्‍जा जमाया. इस इवेंट का रजत पदक चीन की रैनझिन जियांग और बोवेन झांग की जोड़ी ने जीता, चीनी जोड़ी ने 477.7 का स्कोर किया. कोरिया की मिनजुंग किम और दाएहुन पार्क की जोड़ी ने 418.8 का स्कोर करते हुए कांस्य पदक अपने नाम किया.

भारतीय जोड़ी ने क्वालीफिकेशन में भी पहला स्थान हासिल करते हुए फाइनल में प्रवेश किया था. इस जोड़ी ने क्वालीफिकेशन में 778 का स्कोर किया था. इस स्पर्धा में हीना सिद्धू और अभिषेक वर्मा की भारतीय जोड़ी ने भी हिस्सा लिया था लेकिन यह जोड़ी क्वालीफिकेशन में नौवें स्थान पर रहकर बाहर हो गई. हीना और अभिषेक ने क्वालीफिकेशन में 770 का स्कोर किया था.

इससे पहले, चैंपियनिशप के व्‍यक्तिगत मुकाबले में मंगलवार को मनु भाकर और हीना सिद्धू उम्मीदों पर खरी नहीं उतरी थीं. भारत के एक अन्‍य स्‍थापित शूटर को भी अपनी इवेंट में पांचवें स्थान से संतोष करना पड़ा. भाकर और हीना महिलाओं की दस मीटर एयर पिस्टल में फाइनल के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाईं

जबकि क्वालीफिकेशन में पांचवें स्थान पर रहने वाले अनीश पुरुषों के 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल में छह

खिलाड़ियों के फाइनल में भी पांचवें नंबर पर रहे.

एक लक्ष्य में तकनीकी खामी के कारण स्पर्धा 20 मिनट देरी से शुरू हुई थी.

10 मीटर एयर पिस्‍टल इवेंट में  17 वर्षीय भाकर ने निराश किया था

तथा क्वालीफिकेशन में 573 के स्कोर के साथ 14वें स्थान पर रहीं थीं.

हीना सिद्धू भी उम्मीदों पर खरा नहीं उतरी थीं और 571 का स्कोर बनाकर 25वें स्थान पर रहीं.

पहली बार विश्व कप में भाग ले रही अनुराधा ने भी 571 अंक बनाये और वह 22वें स्थान पर रहीं.

राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले सबसे युवा भारतीय अनीश ने पहली दो

सीरीज में तीन-तीन अंकों से शुरुआत की जबकि तीसरी सीरीज में सभी सही निशाने लगाए.

अगली सीरीज में हालांकि चार निशाने चूकने से वह पिछड़ गए थे.  (इनपुट: एजेंसी)