Mere Pyare Prime minister Review: दिल को छू जाती है यह फिल्म

0
1
फिल्म:Mere Pyare Primeminister
कलाकार:Anjali Patil, Om Kanojiya, makrand desh pandey and other
निर्देशक:Rakesh Om Prakash Mehra

भारत में आज लाखों लोग खुले में शौच करने के लिए मजबूर हैं. खुले में शौच की वजह से महिलाओं

को सबसे ज्यादा परेशानी झेलनी पड़ती है. देश में जितनी भी दुष्कर्म की घटनाएं होती है उसमें करीब

आधी खुले में शौच के लिए घर से बाहर निकली महिलाओं या लड़कियों के साथ होती हैं.

यह एक बड़ा मुद्दा है. इस विषय को राकेश ओमप्रकाश मेहरा के निर्देशन में बनी मेरे प्यारे

प्राइम मिमिस्टर बेहतरीन तरीके से उठाती है.

खुले में शौच के विषय पर हलका के अलावा अक्षय कुमार स्टारर टॉयलेट एक प्रेम कथा जैसी फ़िल्में बन

चुकी हैं. लेकिन मेरे प्यारे प्राइम मिनिस्टर में खुले में शौच की वजह से महिलाओं के खिलाफ होने वाले

अपराध की कहानी को संजीदा तरीके से दिखाया गया है. फिल्म पूरी तरह से महिलाओं की समस्याओं

पर फोकस है. फिल्म में मां और बेटे के रिश्ते को भी निखारा गया है.

क्या है कहानी?

फिल्म की कहानी मुंबई के एक स्लम एरिया पर आधारित है जहां टॉयलेट ही नहीं है.

मजबूरी में बस्ती के लोगों को रेल की पटरी या फिर बड़े पाइप पर शौच करना पड़ता है.

फिल्म में सरगम का किरदार निभा रहीं अंजली पाटिल के साथ उस वक्त दुष्कर्म होता है

जब वह खुले में शौच करके वापस लौट रही होती हैं. यह घटना मां और उसके मासूम बेटे को झकझोर

कर रख देती है. घटना के बाद बेटा कन्हैया उर्फ कान्हू (ओम कनौजिया) कुछ बांस की बल्लियां और

साड़ी के सहारे एक अस्थायी टॉयलेट बनाता है. लेकिन, वह बारिश में उखड़ जाता है.