MS Dhoni के संन्यास पर युवराज सिंह ने तोड़ी चुप्पी

0
2

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह ने 26 घंटे से ज्यादा समय के बाद अपने साथी क्रिकेटर और कप्तान रहे महेंद्र सिंह धौनी को नई पारी की शुभकामनाएं दी हैं। शनिवार 15 अगस्त को सोशल मीडिया के जरिए धौनी ने अंतराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा था। इसके बाद उनको नए सफर पर जाने के लिए बधाईयां मिलनी शुरू हो गई थीं, लेकिन सभी इंतजार था कि युवराज सिंह क्या बोलेंगे? हालांकि, रविवार की रात को युवी ने खास अंदाज में धौनी को विश किया।

आखिरकार पूर्व धुरंधर ऑलराउंडर ने एमएस धौनी के संन्यास पर चुप्पी तोड़ी और रविवार रात ट्वीट किया। युवराज सिंह ने धौनी के साथ अपनी तस्वीरों का एक वीडियो बनाया है, जिसमें दोनों की जुगलबंदी दिख रही है। करीब एक मिनट के इस वीडियो में धौनी और युवराज अलग-अलग परिस्थितियों में दिखाई दे रहे हैं, जबकि इस वीडियो में धौनी कहते हैं कि उनको युवराज के 6 छक्के हमेशा याद रहेंगे। युवराज सिंह ने टी20 वर्ल्ड कप 2007 के लीग मैच के दौरान इंग्लैंड के खिलाफ एक ओवर में 6 छक्के जड़े थे।

युवराज ने इस वीडियो के कैप्शन में लिखा है, “बधाई एमएस धोनी इस शानदार करियर के लिए। साथ में अपने देश के लिए 2007 और 2011 के वर्ल्ड कप की ट्रॉफी उठाने का लुत्फ उठाया था और हमारी मैदान पर साझेदारी भी यादगार थी। मेरी तरफ से आपको उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं।” बता दें कि धौनी और युवराज ने वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में 3000 से ज्यादा रन जोड़े थे। इस दौरान उन्होंने 10 शतकीय साझेदारियां भी की थीं।

युवराज सिंह ने धौनी के साथ संन्यास लेने वाले बाएं हाथ के बल्लेबाज सुरेश रैना को भी इस नई
पारी के लिए शुभकामनाएं दी हैं। युवी ने रैना के संन्यास पर लिखा, “सुरेश ब्वॉय! मुझे लगा
आप में अभी भी खेलने का माद्दा है!
लेकिन फिर भी तुमने भारत के लिए महत्वपूर्ण समय में कुछ अहम पारियां खेली हैं।
विशेष रूप वर्ल्ड कप क्वार्टर फाइनल में
ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हमारी बड़ी साझेदारी! अच्छा दोस्त… तुम्हारे लिए शानदार आईपीएल हो।”

दरअसल, 2011 वर्ल्ड कप के क्वार्टर फाइनल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 261 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए
युवराज सिंह और सुरेश रैना (नाबाद 34) ने छठे विकेट के लिए 74 रनों की अटूट साझेदारी की थी।
इसी के दम पर भारत को जीत मिली थी और टीम ने फिर सेमीफाइनल में प्रवेश किया था।
उस मैच में युवराज सिंह (नाबाद 57) प्लेयर ऑफ द मैच रहे थे। वहीं, टूर्नामेंट में वे प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट रहे थे।