Rajya Sabha Live: कानून मंत्री ने पेश किया तीन तलाक बिल, बोले- वोट बैंक नहीं, नारी न्याय का सवाल ..

0
3
avi shankar

लोकसभा में पास कराने के बाद सरकार ने तीन तलाक बिल (Triple Talaq Bill) को राज्यसभा में पेश
किया है। केन्द्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बिल को पेश किया। राज्यसभा में बिल पर चार घंटे तक चर्चा
होगी। भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस ने अपने सांसदों को सदन में उपस्थित रहने के लिए
व्हिप जारी किय है। वहीं बीजेडी ने तीन तलाक बिल को समर्थन देने की बात कही है।

टीएमसी सांसद डोला सेन ने कहा कि नागपुर में आपकी एक संस्था है, जिसके चीफ ने कहा था कि पति और
पत्नी सामाजिक करार से जुड़े हैं और अगर महिला अपनी ड्यूटी नहीं निभा पाती है तो उसे छोड़ देना चाहिए।
सेन के इस बयान पर सदन में जोरदार हंगामा होने लगा। उन्होंने कहा कि बिल में तीन तलाक को अपराध बनाने
वाला प्रावधान है इसलिए बिल को सेलेक्ट कमेटी में भेजा जाना चाहिए।

राज्यसभा में लंच ब्रेक के लिए हंगामा हुआ। विपक्षी लंच ब्रेक की मांग कर रहा था, जबकि उपसभापति ने कहा
कि लंच के लिए सदन स्थगित नहीं होगा और लगातार बिल पर चर्चा होगी। इसके बाद लंच के लिए सदन की
कार्यवाही 2 बजे तक स्थगित कर दी गई है।

भारतीय जनता पार्टी की तरफ से मुख्तार अब्बास नकवी ने बिल पर बोलते हुए कहा कि जब आप महिलाओं
के साथ गलत काम कर रहे हैं तो आपको क्यों बख्शा जाए? बात चली की पति जेल जाएगा तो क्या होगा?
पति ऐसा कोई काम करे ही क्यों ताकि जेल जाने की नौबत आए। हमने तमाम कुरीतियों को खत्म करने के
लिए कानून बनाने पर जोर दिया है।