RBI छापने लग जाए बेहिसाब नोट, तो करोड़ों रुपये होने पर भी आप क्यों होंगे गरीब ?

0
26

क्या आप ने कभी सोचा है कि जब नोट छापने का अध‍िकार भारतीय रिजर्व बैंक के पास है, तो क्यों नहीं वह जितने चाहे उतने नोट छापता है? गूगल सर्च इंजन और कोरा जैसे प्लैटफॉर्म पर ये प्रश्न पूछा जा रहा है. कुछ लोग ये भी पूछ रहे हैं कि आख‍िर क्यों कोई देश असीमित नोट छापकर अमीर नहीं बन जाता? तो इन सवालों का एक ही जवाब है कि शायद ही कोई देश ऐसा करने की गलती करेगा. क्यों असीम‍ित करंसी नहीं छापता RBI? भारतीय रिजर्व बैंक ही क्या बल्कि कोई भी देश असीमित करंसी छापने से बचेगा. अतीत में कई देशों ने ऐसा करने की कोश‍िश की है. उन्होंने इसके लिए भारी कीमत चुकाई है. मान लीजिए कि किसी देश ने असीम‍ित करंसी प्रिंट कर दी.
कैसे तय होता है कितने नोट प्रिंट करने हैं: भारतीय रिजर्व बैंक के मुताबिक किसी वित्त वर्ष में कितनी मुद्रा प्रिंट करनी है. इसके लिए सर्कुलेशन में कितनी मुद्रा है, यह देखा जाता है. इसके अलावा इकोनॉमी और अन्य कई फैक्टर्स पर विचार किया जाता है. उसके बाद कितनी करंसी छापी जाए, यह फैसला लिया जाता है.