Republic Day 2019: प्रधानमंत्री के कहने पर बनी थी फिल्म, ये था मकसद

0
2

देशभक्ति फ़िल्में और मनोज कुमार का जिक्र न हो, ऐसा हो ही नहीं सकता.

मनोज कुमार को भारत कुमार के नाम से जाना जाता है. ऐसा इसलिए है क्योंकि

उन्होंने देशभक्ति की कहानियों पर एक से बढ़कर एक फिल्मों का निर्माण किया,

उनमें अभिनय किया. मनोज कुमार ने शहीद, रोटी कपड़ा और मकान, उपकार,

पूरब और पश्चिम, क्रांति जैसी फिल्में की. ‘बेईमान’ के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ नायक का

जबकि, ‘रोटी कपड़ा और मकान’ के लिए सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का अवॉर्ड दिया गया.

रिपब्लिक यानी गणतंत्र दिवस के मौके पर मनोज कुमार का जिक्र किया जाना जरूरी है

जिनके सिनेमा में हमेशा देशप्रेम एक मकसद रहा है. 1965 में आई फिल्म शहीद में

मनोज की अदाकारी काफी सराही गई. ये फिल्म शहीद ए आजम भगत सिंह की जीवन

पर आधारित थी. यहां तक की तत्कालीन प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री भी फिल्म से

काफी प्रभावित हुए. 1965 में पाकिस्तान से युद्ध के बाद देश का मनोबल बढ़ाने के

लिए लालबहादुर शास्त्री ने उनसे ऐसी फिल्म बनाने को कहा था, जो उनके नारे

“जय जवान जय किसान” को सार्थक करे.

प्रधानमंत्री के आग्रह पर मनोज कुमार ने “उपकार” बनाई. 1967 में आई इस फिल्म का गाना

‘मेरे देश की धरती’ काफी लोकप्रिय हुआ. मनोज कुमार इस फिल्म के लेखक,

निर्देशक और अभिनेता थे. उन्हें इस फिल्म के लिए सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का फिल्मफेयर अवॉर्ड भी मिला.