sahyari

0
0

याद आयेगी हमारी तो बीते कल की किताब

पलट लेना यूँ ही किसी पन्ने पर मुस्कुराते हुए हम मिल जायेंगे।”