SBI का त्योहारी सीजन में एक और धमाका; ब्याज दर में कटौती का ऐलान, जानिए कितनी कम हो जाएगी EMI

0
1

देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई ने सभी अवधि की लोन पर एमसीएलआर में 0.10 फीसद की कटौती का ऐलान किया है। ईएमआई की ये नई दरें 10 अक्टूबर से प्रभावी होंगी। आरबीआई द्वारा रेपो रेट में 0.25 फीसद की कटौती के हालिया फैसले का लाभ ग्राहकों को पास करने के लिए स्टेट बैंक ने यह कदम उठाया है। बैंक ने कहा है कि त्योहारी मौसम को देखते हुए उसने यह कदम उठाया है। बैंक के इस फैसले से बड़ी संख्या में लोगों को फायदा पहुंचेगा क्योंकि SBI देश का सबसे बड़ा बैंक है। अब इस बात की उम्मीद की जा रही है कि अन्य बैंक भी जल्द ही इस तरह की घोषणा कर सकते हैं।

एसबीआई द्वारा एमसीएलआर बेस्ड लोन के इंटरेस्ट रेट में की गई इस कमी के बाद बैंक का एक साल का एमसीएलआर घटकर 8.05 फीसद की सालाना दर पर रह गया है। इस अवधि के लिए बैंक की एमसीएलआर दर पहले 8.15 फीसद पर थी। वित्त वर्ष 2019-20 में एसबीआई ने एमसीएलआर में छठी बार कमी की है।

भारतीय स्टेट बैंक ने बयान जारी कर कहा है, ”फेस्टिवल सीजन को देखते हुए और सभी श्रेणी के ग्राहकों को लाभ देते हुए एसबीआई ने सभी अवधि के एमसीएलआर में 10 फीसद की कटौती की है।”

स्टेट बैंक परिसंपत्ति, जमा, शाखाओं, ग्राहकों और कर्मचारियों के लिहाज से देश का सबसे बड़ा कॉमर्शियल बैंक है।

मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट को ही संक्षिप्त में एमसीएलआर कहते हैं। इसके बारे में यह जानना जरूरी है कि ये बैंक की अपनी लागत पर आधारित रेट होता है। एमसीएलआर आधारित लोन में आम तौर पर एक साल का रिसेट क्लॉज होता है। इसका मतलब यह है कि ग्राहकों को एमसीएलआर में किसी तरह का कटौती का लाभ तत्काल नहीं मिलता है।