UP कैबिनेट का फैसला : अयोध्या के रौनाही में सुन्नी वक्फ बोर्ड को पांच एकड़ जमीन…

0
2
yoginath

लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राम मंदिर ट्रस्ट के गठन का ऐलान करने के साथ ही योगी
आदित्यनाथ कैबिनेट ने सुन्नी वक्फ बोर्ड को अयोध्या के रौनाही में पांच एकड़ जमीन देने के प्रस्ताव
पर मुहर लगा दी है। लोक भवन में उत्तर प्रदेश कैबिनेट की बैठक में इस फैसले को हरी झंडी दी
गई। अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए न्यास बनाने की घोषणा के साथ ही योगी आदित्यनाथ
सरकार ने मस्जिद के लिए भी पांच एकड़ जमीन देने का एलान किया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में 18 प्रस्तावों पर
मुहर लगी। बैठक में श्री राम जन्मभूमि पर सुप्रीमकोर्ट के निर्णय के तहत अयोध्या में सुन्नी सेंट्रल वक्फ
बोर्ड को 5 एकड़ भूमि दिये जाने के प्रस्ताव पर कैबिनेट ने मुहर लगाई। इस सम्बंध में राज्य सरकार
ने केंद्र सरकार को तीन स्थानों के विकल्प दिए थे। इसके तहत केंद्र ने बोर्ड को अयोध्या में जिला
मुख्यालय से 18 किलोमीटर दूरी पर ग्राम धन्नीपुर, तहसील सोहावल में थाना रौनाही के लगभग 200
मीटर पीछे भूमि का आवंटन किया गया है।

अयोध्या में सुन्नी वक्फ बोर्ड को पांच एकड़ जमीन रौनाही में देने के प्रस्ताव पर मुहर लगी है। आदित्यनाथ
सरकार ने अयोध्या के रौनाही में सुन्नी वक्फ बोर्ड को पांच एकड़ जमीन देने का फैसला किया है। यह
जमीन लखनऊ अयोध्या हाई-वे पर अयोध्या से करीब 20 किलोमीटर पहले है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश
पर राम मंदिर-बाबरी मस्जिद केस में  जमीन दी जा रही है।बोर्ड जो चाहे करे, मस्जिद बनाए या कुछ और।

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ स्थल नाम का ट्रस्ट बनेगा जो राम मंदिर निर्माण से जुड़े निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र होगा।
सुन्नी वक्फ बोर्ड को मस्जिद के लिए 5 एकड़ जमीन देने पर राज्य सरकार ने रज़ामन्दी दे दी है। 67.2 एकड़
की ज़मीन जो केंद्र के पास थी वो भी ट्रस्ट को दी जाएगी