• 41 C
    New Delhi
Travel

गर्मियों में ठंडी का ट्रैकिंग का मजा ले भारत के इन जगहों पर

( words)

कुछ लोग प्राकृतिक खूबसूरती को देखने के लिए और उसे करीब से महसूस करने के लिए ट्रैक पर जाते हैं। अगर आपके भी कुछ इस तरह के शौक हैं, तो चलिए आपको इस लेख में भारत के उन लोकप्रिय ट्रेक्स के बारे में बताते हैं, जहां आप अपनी ऐसी सभी इच्छाओं को पूरा कर सकते हैं।

1.फूलों की घाटी ट्रैक उत्तराखंड

फूलों की घाटी ट्रैक उत्तराखंड में मौजूद है और ये ट्रैक खूबसूरत ट्रैकिंग स्पॉट्स में आता है। उत्तराखंड में वैली ऑफ फ्लावर्स ट्रेक आपको यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल और हेमकुंड साहिब के सिख तीर्थ स्थल तक ले जाता है। इस ट्रैक की दूरी 55 किलोमीटर और ऊंचाई 3658 मीटर है। मानसून के मौसम के दौरान, पूरी घाटी रंगीन हिमालयी फूलों से लदालद भर जाती है, यहां का दृश्य किसी स्वर्ग से कम नहीं लगता। यहां किसी उम्र के लोग ट्रैकिंग का मजा लेने के आ सकते हैं। इस जगह पर ट्रैकिंग करने का मजा जुलाई से सितंबर के बीच है।

2.रूपकुंड ट्रेक, उत्तराखंड

रूपकुंड ट्रेक लोहाजंग से 3200 मीटर की ऊंचाई पर शुरू होता है और आपको रूपकुंड नामक झील तक ले जाता है, जो 5029 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यह झील मानव कंकाल के अवशेषों के लिए लोकप्रिय है जो इसके तल पर पाए गए थे। 7 से 9 दिनों में 53 किमी की दूरी तय करनी होती है। नदियों के शोर से होकर आप हरे-भरे जंगलों से गुजरते हुए जाते हैं। यहां हिंदू मंदिर, हिमालय की चोटियां जैसे नंदा देवी और नंदा घुंटी हैं, साथ ही यहां कई पक्षी प्रजातियां और हरे-भरे समतल मैदान भी हैं। यहां ट्रैकिंग का मजा लेने के लिए मई से अक्टूबर का महीना बेस्ट है।

3. ज़ोंगरी ट्रैक, सिक्किम

सिक्किम का ज़ोंगरी ट्रैक भारत के सबसे लोकप्रिय ट्रैक में शामिल है। इस ट्रैक का स्तर आसान से मध्यम स्तर तक है, जिसे आप 5 दिन में पूरा कर सकते हैं। इस ट्रेक का शुरुआती और अंतिम बिंदु युकसोम है। इस ट्रैक का डिस्टेंस 21 किलोमीटर है, जिसकी अधिकतम ऊंचाई 15,000 फीट है। अगर आपके पास समय ज्यादा नहीं है और हिमालय की चोटी पर ट्रैकिंग का मजा लेना चाहते हैं, तो ज़ोंगरी ला चोटी, और माउंट कंचनजंगा बेस्ट ट्रैक हैं। इस ट्रैक में आप साचेन, बक्खिम, शोखा, कचनजंगा राष्ट्रीय उद्यान से होते हुए जाएंगे। यहां ट्रैकिंग का सबसे अच्छा समय अप्रैल से जून और अक्टूबर से दिसंबर के बीच है।

4. राजमाची किला ट्रेक, महाराष्ट्र 

जो लोग ट्रैकिंग के लिए नए-नए हैं उनके लिए भारत में कई ट्रैकिंग स्थल मौजूद हैं, और महाराष्ट्र भी उनमें से एक है। राजमाची लोनावाला से लगभग 15 किमी की दूरी पर स्थित है। इस ट्रैक की औसत अवधि एक दिन है और समुद्र तल से इसकी ऊंचाई 3000 फीट है। इस ट्रैक की दूरी 14 किमी है और बेस कैंप उधेवाड़ी है। इस ट्रैक के दौरान घाटी का अद्भुत नजारा देखने को मिलता है, साथ ही श्रीवर्धन और मनरंजन किलों पर भी आप एक नजर डाल सकते हैं। सबसे अच्छी साइट राजमाची किला है, जो शिवाजी द्वारा 17 वीं शताब्दी की संरचना है। ट्रैकिंग करते हुए आप झरने, मंदिरों और प्राचीन बौद्ध गुफाओं के साथ दोनों तरफ घने जंगलों से होते हुए गुजरते हैं। यहां ट्रैकिंग का सबसे अच्छा समय जून से सितंबर के बीच है।

5. हम्पटा पास ट्रेक, हिमाचल प्रदेश

कुल्लू घाटी के गांव हम्पटा से शुरू होकर लाहौल और स्पीति घाटी के चटरू में समाप्त होता हुआ लोकप्रिय हम्पटा दर्रा ट्रेक लगभग 35 किमी का है। इस ट्रैक को आप चार से पांच दिन में पूरा कर सकते हैं, इसकी ऊंचाई 4400 मीटर है। अगर आपका ये पहला इतनी ऊंचाई वाला ट्रैक है, तो आपके लिए ये एक बेस्ट ऑप्शन है। यहां के नजारे बेहद लुभावने और खूबसूरत हैं। इस ट्रैक के दौरान आप बर्फ से ढकी घाटियों, घने देवदार के जंगलों, फूलों के मैदानों, क्रिस्टल साफ पानी की धाराओं, हिमालयी एविफौना से गुजरते हैं और अंत में लाहौल-स्पीति की बंजर भूमि पर इस ट्रैक को समाप्त करते हैं। ट्रैक में चंद्र ताल की नाईट कैम्पिंग भी शामिल है। यहां ट्रैकिंग का सबसे अच्छा समय जून से नवंबर के बीच है।

6.रूपिन पास ट्रैक, उत्तराखंड

भारत में ट्रैकिंग के लिए सबसे अच्छे स्थानों में से एक, गढ़वाल क्षेत्र में चुनौतीपूर्ण रूपिन पास ट्रैक है, जो लगभग 15250 फीट की अधिकतम ऊंचाई के साथ लगभग 7 दिनों का है। लगभग 52 किमी का यह ट्रैक उत्तराखंड के धौला से शुरू होता है और हिमाचल प्रदेश के सांगला में समाप्त होता है। ट्रेकर्स द्वारा पसंद किया जाने वाला यह ट्रैक चुनौतियों और लुभावने दृश्यों से भरा हुआ है। केवल 14 वर्ष से अधिक उम्र के लोग इसके ऊबड़-खाबड़ रास्तों पर जा सकते हैं। यहां आप घास के मैदान और बर्फ से ढकी पहाड़ियां, झरने, गांव देख सकते हैं।

 

You Might Also Like...

Sign Up for Our Newsletter

Subscribe now to get notified about Breaking News
from Live4India!