• 41 C
    New Delhi
Travel

ब्रह्मताल ट्रैक है परफेक्ट दोस्तों के साथ जाने के लिए जानें क्या क्या वहां

( words)

हिमालय का एक और रत्न जो दुनिया भर के ट्रैकर्स से अछूता है, वो है ब्रह्मताल ट्रैक, जो भगवान ब्रह्मा को समर्पित है। यह हिमालय के बीच खूबसूरती से स्थित है और बर्फ की चादरों से ढका हुआ है। ब्रह्मताल ट्रैक सुंदर घाटियों, शांत बस्तियों, नदियों, और ओक के जंगलों के रास्तों से ले जाता है। सर्दियों में ये क्षेत्र बर्फ से ढका रहता है, जहां से हिमालय की खूबसूरती को देखने वाला हर कोई मंत्रमुग्ध हो जाता है। चलिए आपको इस ट्रैक से जुडी और अन्य जानकारियां देते हैं।

ब्रह्मताल ट्रैक से जुड़े कुछ तथ्य

  • अवधि: 6दिन 5 रात में आप इस ट्रैक को पूरा कर सकते हैं
  • ब्रह्मताल ट्रैक की दूरी: 22km
  • ब्रह्मताल ट्रैक की ऊंचाई: 12,150 फीट
  • भ्रामाताल ट्रैक कठिनाई स्तर: मध्यम
  • तापमान: दिन: (8 डिग्री सेल्सियस से 15 डिग्री सेल्सियस) और रात: (0 डिग्री सेल्सियस से -7 डिग्री सेल्सियस)
  • ब्रह्मताल ट्रैक के लिए सबसे अच्छा समय: दिसंबर से मार्च
  • निकटतम रेलवे स्टेशन: काठगोदाम निकटतम रेलवे स्टेशन
  • निकटतम हवाई अड्डा: जॉली ग्रांट हवाई अड्डा, देहरादून
  • प्रारंभ/अंत बिंदु: काठगोदम

कैसे पहुंचें काठगोदम

ट्रेन से: काठगोदम स्टेशन जिले के मुख्य स्टेशनों में से एक है और यह एक पुराना स्टेशन है। इसकी कई जगहों से अच्छी कनेक्टिविटी है और इनमें लखनऊ, दिल्ली और हावड़ा शामिल हैं।

हवाई मार्ग से: काठगोदम का निकटतम हवाई अड्डा पंतनगर हवाई अड्डा है जो काठगोदम से 32 किमी की दूरी पर स्थित है। हवाई अड्डा दिल्ली से अच्छे से जुड़ा हुआ है। हवाई अड्डे से काठगोदाम के लिए टैक्सी आसानी से उपलब्ध हैं।

बस द्वारा: आईएसबीटी दिल्ली आनंद विहार स्टेशन से काठगोदम के लिए नियमित बसें चलती हैं। नैनीताल जाने वाली बसें हल्द्वानी में रुकती हैं, जो काठगोदम का जुड़वां शहर है (8 घंटे की यात्रा)। आमतौर पर, बसें आपको हल्द्वानी बस स्टेशन पर छोड़ देती हैं। वहां से आपको काठगोदम रेलवे स्टेशन आना होगा जो कि 4 किमी दूर है। आप आईएसबीटी आनंद विहार से सरकारी बसें लेकर जा सकते हैं।

ब्रह्मताल ट्रैक पैकेज में शामिल

ये पैकेज ऑर्गनाइजर पर भी निर्भर करते हैं, लेकिन ज्यादातर यही समान पैकेज हर ऑर्गनाइजर द्वारा दिए जाते हैं।

  • आवास। (गेस्ट हाउस, होम स्टे, कैम्पिंग)
  • यात्रा के दौरान खाना (शाकाहारी)
  • ट्रैक उपकरण (स्लीपिंग बैग, गद्दा, किचन और डाइनिंग टेंट, क्रैम्पन, बर्तन, टेंट)
  • ब्रह्मताल ट्रैक पैकेज में सभी आवश्यक परमिट और प्रवेश शुल्क शामिल होते हैं।
  • प्राथमिक चिकित्सा किट, स्ट्रेचर और ऑक्सीजन सिलेंडर।
  • पर्वतारोहण योग्य और पेशेवर ट्रैक लीडर, गाइड और सपोर्ट स्टाफ।
  • काठगोदम से लोहाजंग तक और वापसी के लिए परिवहन।

ब्रह्मताल ट्रेक का संक्षिप्त यात्रा कार्यक्रम

दिन 1: पहले लोहाजंग में पहुंचना

दिन 2: बेखल ताल के लिए ट्रैक

दिन 3: ब्रह्मताल के लिए ट्रैक

दिन 4: फिर जत्रोपानी चोटी के लिए ट्रैक और फिर ब्रह्मताल के लिए वापसी

दिन 5: लोहाजंगो तक ट्रैक

दिन 6: देहरादून से वापसी

ब्रह्मताल ट्रैक ट्रैवल टिप्स

  • ब्रह्मताल की यात्रा आसान से मध्यम है, लेकिन यदि आप अनुभवहीन हैं, तो कम से कम एक महीने पहले अपने शरीर को ट्रैकिंग के लिए ट्रेन कर लें।
  • आखिरी एटीएम लोहाजंग से 25 किलोमीटर पहले देवल में है, जिसमें ज्यादातर समय नकदी नहीं रहती। अच्छा होगा अगर आप हरिद्वार, ऋषिकेश, देहरादून, काठगोदम, अल्मोड़ा या कौसानी से पहले से ही कैश निकाल लें।
  • ट्रैकिंग के लिए अपने साथ एक गाइड भी जरूर लेकर जाएं।
  • मानसून के मौसम में ट्रैकिंग करने से बचें क्योंकि यहां ट्रकिंग मार्ग फिसलन भरा हो जाता है और इस दौरान क्षेत्र में भूस्खलन और रोड ब्लॉकहो जाते हैं।
  • पहाड़ों के बीच में, दो या दो से अधिक के समूह में यात्रा करें। अकेले ट्रैकिंग करना अप्रत्याशित और जोखिम भरा हो सकता है। साथ ही, घर में किसी को लौटने का समय भी जरूर बताएं।
  • ब्रह्मताल के लिए ट्रैकिंग मार्ग में गर्मियों के दौरान आसान और सर्दियों के दौरान मध्यम मार्ग शामिल हैं।
  • बीएसएनएल, एयरटेल, वोडाफोन सहित सभी प्रमुख मोबाइल नेटवर्क लोहाजंग में 4जी इंटरनेट के साथ काम करते हैं। लोहाजंग के आगे आपको कोई नेटवर्क नहीं मिलेगा।

 

You Might Also Like...

Sign Up for Our Newsletter

Subscribe now to get notified about Breaking News
from Live4India!