• 41 C
    New Delhi
Travel

भारत में मॉनसून के दिनों में जरूर जाएं इन टॉप वाइल्ड लाइफ सेंचुरी की जंगल सफारी के लिए

( words)

अगर आपको वन्य जीवों से बेहद प्यार है और उन्हें नजदीक से देखने की इच्छा रखते हैं, तो आपको वाइल्ड लाइफ सेंचुरी की सैर मॉनसून के मौसम में जरूर करनी चाहिए। नेशनल पार्क की सैर करने के लिए मॉनसून का सीजन सबसे बेस्ट माना जाता है। वैसे तो वाइल्ड लाइफ सेंचुरी का भ्रमण करने के लिए किसी भी समझ जा सकते हैं। आपको बता दें, भारत में करीब 200 राष्ट्रीय उद्यान हैं। अगर आप भी वन्य जीवों को देखने के लिए नेशनल पार्क घूमने का प्लान बना रहे हैं, तो भारत के इन टॉप वाइल्ड लाइफ सेंचुरी को अपनी लिस्ट में शामिल कर सकते हैं।

रणथंभौर, राजस्थान

रणथंभौर राष्टीय उद्यान राजस्थान के दक्षिण जिले सवाई माधोपुर में मौजूद है। इस उद्यान को 1981 में राष्टीय उद्यान का दर्जा दिया गया था। ये नेशनल पार्क अरावली और विंध्य की पहाड़ियों पर स्थित है। यहां बाघों की तादाद सबसे अधिक है। साथ ही यहां आपको चीते भी देखने को मिल जाएंगे। यहां जानवरों के अलावा पक्षियों की भी कई प्रजातियां देख सकते हैं। यहां आप मॉनसून के अलावा अक्टूबर से अप्रैल के महीने में भी जा सकते हैं।

जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क, उत्तराखंड

जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क, हिमालय की तलहटी के बीच स्थित है, जहां आपको बाघ सहित विभिन्न प्रकार के वनस्पति और जीव देखने को मिल जाएंगे। साथ ही यहां कुल 300 जंगली हांथी, 200 बाघ और कई प्रकार के जानवर और पक्षी भी घूमते हैं। जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान को वर्ष 1936 में स्थापित किया गया था और ये भारत का सबसे पुराना उद्यान है। यहां आप अपनी फोटोग्राफी की साडी हसरतों को पूरा कर सकते हैं। मॉनसून के अलावा आप यहां अक्टूबर से जून के महीनों के बीच भी जा सकते हैं।

काजीरंगा नेशनल पार्क, असम

पृथ्वी पर एक सींग वाले गैंडों की सबसे बड़ी आबादी का घर, काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान वनस्पतियों और जीवों के मामले में भारत के राष्ट्रीय खजाने में से एक है। उत्तर-पूर्वी भारत में असम राज्य में स्थित, इसका कुल क्षेत्रफल नागांव, गोलाघाट और कार्बी आंगलोंग जिलों द्वारा साझा किया जाता है। गुवाहाटी से सड़क मार्ग से लगभग पांच घंटे की दूरी पर काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान भारत में सफल वन्यजीव संरक्षण का प्रतीक है। 1985 में, इसे यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर स्थल का दर्जा दिया गया था। मॉनसून के अलावा आप यहां अक्टूबर से जून के महीनों के बीच भी जा सकते हैं।

बांधवगढ़ राष्ट्रीय उद्यान, मध्य प्रदेश 

मध्य प्रदेश में बांधवगढ़ राष्ट्रीय उद्यान वन्य जीवन और वनस्पतियों से भरपूर एक सुंदर जंगल है। पूर्व में रीवा के महाराजाओं के लिए शिकारगाह था, जो कि अब यह राष्ट्रीय उद्यान बाघ अभयारण्य के रूप में विश्व प्रसिद्ध है। बांधवगढ़ को दुनिया में रॉयल बंगाल टाइगर्स की सबसे अधिक पाए जाने वाले उद्यान के रूप में भी जाना जाता है। आप यहां जंगल सफारी के दौरान सबसे ज्यादा रॉयल टाइगर की झलक देख सकते हैं। 2012 में, लगभग 44-49 बाघ इस राष्ट्रीय उद्यान में मौजूद थे। यहां स्तनधारियों की 22 से अधिक प्रजातियां और एविफौना की 250 प्रजातियां हैं। मॉनसून के अलावा आप यहां अक्टूबर से जून के महीनों के बीच भी जा सकते हैं।

कान्हा नेशनल पार्क, मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश के मध्य क्षेत्र में स्थित यह मध्य भारत का सबसे बड़ा राष्ट्रीय उद्यान है और इसे एशिया के सर्वश्रेष्ठ पार्कों में से एक के रूप में भी स्थान दिया गया है। मध्य प्रदेश में स्थित यह पार्क 1955 में वजूद में आया था। यहां बड़े स्तनधारियों की 22 प्रजातियां पाई जाती हैं, साथ ही यहां के रॉयल बंगाल टाइगर एक प्रमुख आकर्षण हैं। कान्हा नेशनल पार्क वर्तमान में 940 किलोमीटर वर्ग में फैला है, जो हॉलन और बंजार दो अभयारण्यों में विभाजित है। मॉनसून के अलावा आप यहां अक्टूबर से जून के महीनों के बीच भी जा सकते हैं।

गिर नेशनल पार्क, गुजरात

गुजरात का गिर नेशनल पार्क दुनिया का एक ऐसा उद्यान है, जहां आप शेरों को खुले में घूमते हुए देख सकते हैं। गुजरात के इस राष्ट्रिय पार्क सैलानी सैर सपाटा करने के लिए आते हैं। इस पार्क में 38 स्तनधारियों की प्रजातियां, 37 प्रकार के सरीसृप, तीन सौ एविफुना प्रजातियां, और 2000 से अधिक कीट प्रजातियां हैं। मॉनसून के अलावा आप यहां जुलाई से मार्च के महीनों के बीच भी जा सकते हैं।

सुंदरवन राष्ट्रीय उद्यान, पश्चिम बंगाल

दुनिया में सबसे बड़े मैंग्रोव वनों की मेजबानी के लिए जाना जाने वाला सुंदरवन राष्ट्रीय उद्यान भारत के पश्चिम बंगाल में स्थित है। यह एक टाइगर रिजर्व और एक बायोस्फीयर रिजर्व भी है, जहां आप 'रॉयल बंगाल टाइगर्स' से लेकर खूबसूरत नदियों के नजारे देख सकते हैं। सुंदरवन राष्ट्रीय उद्यान सुंदरबन डेल्टा का एक हिस्सा है जो मैंग्रोव वन से भरा पड़ा है और बंगाल टाइगर्स की सबसे बड़ी आबादी यही देखी जाती है। यह यूनेस्को का विश्व धरोहर स्थल है, जिसमें खारे पानी के मगरमच्छ सहित विभिन्न प्रकार के पक्षी और सरीसृप मौजूद हैं। मॉनसून के अलावा आप यहां सितंबर से मार्च के महीनों के बीच भी जा सकते हैं।

 

You Might Also Like...

Sign Up for Our Newsletter

Subscribe now to get notified about Breaking News
from Live4India!