• 41 C
    New Delhi
India दिल्ली

मैट्रो में उड़ी नियमों की धज्जियां, नही नजर आया कोरोना उचित व्यवहार

( words)

कोरोना की दूसरी लहर धीमी पड़ती नजर आ रही है! देश के लगभग सभी राज्य लॉकडाउन से अनलॉक की तरफ बढ़ रहें है लोगों का जीवन भी अब कुक हद तक सामान्य हो रहा है! अनलॉकहोते ही ऑफिस, बजार, पब्लिक ट्रांसपोर्ट भी कुछ नियम व शर्तों के साथ काम करने की मंजूरी मिल गई है! इसी कड़ी में दिल्ली मैट्रो को भी चलने की मंजूरी मिल गई है! दिल्ली मैट्रो को अपनी  क्षमता से 50% की सवारी के साथ चलने की मंज़ूरी दी गई है, और साथ ही आदेश दिया गया है की कोई भी यात्री मैट्रो में खड़े होकर यात्रा नही करेंगे! सभी नियम व शर्तो के साथ मैट्रो में सवारी करने के लिए जनता भी पूरी तैयार है! मैट्रो में इतनी सख्ती और सुविधाओं के बावजूद काफी खामिया देखने को मिल रही है!
ताज़ा मामला कल कौशाम्बी मैट्रो स्टेशन का है स्टेशन में एंट्री को लेकर काफी लम्बी लाइन लगी हुई थी, जिसमे सोशल डीस्टेंसिंग की खुलेआम धज्जियां उड़ी! यही नहीं मैट्रो के प्लेटफोर्म तक पहुचने में भी काफी देर तक लोगों को इंतज़ार करना पद रहा है, जिसकी वह्ज से लाइन काफी लम्बी हो गई! लोगों का कन्हा है की एंट्री में उन्हें डेढ़ घंटे तक इंतज़ार करना पड़! एक महिला जिसको अपने बच्चो के पास जाना था वह भी लगभग एक घंटे से अपनी बारी का इन्तेज्क्सार क्र रही थी उसको भी नही जाने दिया! महिया का आरोप था की प्रशासन प्लेटफोर्म तक जाने नहीं दिया जा राहा वेह महिला अपने बच्चो के पास समय से नही पहुच पाएगी जबकि उसको डेढ़ घनता तो दिर्फ़ लाईन में ही हो गया है! पहले उसने वहां पर मौजूद गार्डको बोला की उसको जाने दें या थोड़ा सा जल्दी करें ताकि बाकी यात्रियों को भी इतना इंतज़ार न करना पड़े पर कुछ भी समाधान नही निकला, फिर मैट्रो का स्टाफ भी मौके पर पहुच गया अंत में CISF के जवान भी आ गये जिससे उसकी बहस होना शुरू हो गई! किसी ने भी उसको जानेनहीं दिया! कोरोंना नियमों का हवाला देकर बात समाप्त कर दी गई! मैट्रो में यात्रा करते हुए साफ़ देखा जा सकता था की यात्री कितने ही यात्री खड़े होकर यात्रा कर रहे थे, जिसमे से कई जगह सोशल डीस्टेंसिंग थी ही नहीं! जहाँ मैट्रो प्रशासन कोरोना नियमों को लेकर जितना सजग दिख रहा है उतना देखने में नज़र नहीं आ रहा है! वहां मौजूद लोगो के अनुसार कोरोना नियमों को लेकर सिर्फ लोगो को परेशान किया जा रहा है, बाकी कहीं कुछ भी नज़र नहीं आ रहा है! अंत में बीएस यही कहना चाहेंगे की प्रशासन तथा जनता दोनों को ही जनभागीदारी निभाते हुए कोरोना के संक्रमणको फैलने से रोकना चाहिए!

एक बार देखिये इस न्यूज़ को और बताएं

You Might Also Like...

Sign Up for Our Newsletter

Subscribe now to get notified about Breaking News
from Live4India!