• 41 C
    New Delhi
Crime News Health

जापानी परंपरिक डिश, रिसर्च कोविड-19 से लड़ने में मददगार साबित हो सकती है

( words)

दुनिया भर के व्यंजनों का एक अहम हिस्सा होता है। ऐसी ही एक डिश है 'नाटो', जो जापान में काफी लोकप्रिय है, लेकिन बाकि देशों में इसके बारे में कम ही लोग जानते हैं। 'नाटो' फर्मेन्टेड सोयाबीन और बैसिलस सबटिलिस, एक बैक्टीरिया जो आमतौर पर मिट्टी और पौधों में पाया जाता है, से बनता है। इस डिश की ख़ासियत है कि यह रेशेदार, चिपचिपी बनावट, गाढ़ी स्थिरता, तीखी गंध और अखरोट जैसा स्वाद है। जापान की यह पारंपरिक डिश पोषण से भरपूर और सेहतमंद है।

कोविड-19 के खिलाफ सुरक्षित रखती है नाटो

बायोकेमिकल और बायोफिजिकल रिसर्च कम्युनिकेशंस में प्रकाशित एक हालिया अध्ययन के अनुसार, "नाटो, एक ऐसा जापानी फर्मेन्टेड डिश है, जो सोयाबीन से बनी है और SARS-CoV-2 सहित कई वायरल संक्रमणों को सीधे रोकती है", SARS-CoV-2 के खिलाफ नाटो में सुरक्षात्मक क्षमता पाई गई है। 

जब नाटो को गर्म कर इस्तेमाल किया गया, तो पाया कि SARS-CoV-2 और BHV-1 वायरस की कोशिकाओं को संक्रमित करने की क्षमता ख़त्म हो गई। यह अध्ययन इस समय में संभावित COVID-19 के उपचार में अहम भूमिका निभा सकता है।

नाटो के फायदे

नाटो को वैसे तो खाने के लिए सुरक्षित माना जाता है, लेकिन थायरॉइड से जूझ रहे लोगों को गोइट्रोजन (सोयाबीन में पाया जाने वाला एक यौगिक) की मौजूदगी के कारण इसके सेवन के बारे में सावधान रहने की सलाह दी जाती है। नाटो अत्यधिक पौष्टिक आहार होता है और इसके कुछ सामान्य लाभ इस प्रकार हैं:

 यह वज़न कम करने के साथ पाचन स्वास्थ्य में सहायता कर सकता है।

- यह संज्ञानात्मक कार्य को बढ़ा सकता है।

- यह प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है।

 

 

 

You Might Also Like...

Sign Up for Our Newsletter

Subscribe now to get notified about Breaking News
from Live4India!