• 41 C
    New Delhi
World

पीएम मोदी की वर्ल्‍ड एप्रूवल रेटिंग अब भी दुनिया के कई देशों के नेताओं से कहीं अधिक है। बाइडन से तो वो काफी उपर है।

( words)

भारत में स्विट्जरलैंड के बैंकों में भारतियों के खातों ओ लेकर काफी राजनीती होती रही है! स्विट्जरलैंड के बैंकों में भारतीयों द्वारा जमा किया गया धन पिछले वर्ष 2.55 अरब स्विस फ्रैंक यानी 20,700 करोड़ रुपये से अधिक हो गया है। यह पिछले 13 वर्षों के दौरान इन बैंकों में भारतीय ग्राहकों की सबसे बड़ी जमा रकम है। स्विट्जरलैंड के केंद्रीय बैंक ने गुरुवार को कहा है कि इस बढ़ोतरी में सिक्युरिटीज और कई कंपनियों की भारत-स्थित शाखाओं जैसे संस्थागत जमाकर्ताओं की बड़ी हिस्सेदारी है। हालांकि लगातार दूसरे वर्ष इन बैंकों में जमाकर्ताओं की कुल रकम में कमी आई है। स्विस नेशनल बैंक (एसएमबी) के अनुसार पिछले वर्ष के आखिर में स्विस बैंकों में भारतीयों की सबसे अधिक करीब 13,500 करोड़ रुपये की रकम बांड्स, सिक्युरिटीज और अन्य वित्तीय उपकरणों के माध्यम से जमा थी। वहीं, भारतीय बैंकों की रकम 3,100 करोड़ रुपये से अधिक और विभिन्न ट्रस्ट की 16.5 करोड़ रुपये रही।

बैंक ने बताया कि भारत के अन्य ग्राहकों के प्रति पिछले वर्ष के अंत में उसकी देनदारी करीब 4,000 करोड़ रुपये रही। स्विस बैंकों में वर्ष 2019 के मुकाबले इस कैटेगरी के ग्राहकों की रकम वर्ष 2020 में छह गुना बढ़ गई है।

स्विट्जरलैंड के केंद्रीय बैंक द्वारा जारी किए गए सालाना आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2019 में स्विट्जरलैंड के बैंकों में भारतीय ग्राहकों की जमा पूंजी सिर्फ 89.9 करोड़ स्विस फ्रैंक यानी करीब 6,625 करोड़ रुपये रही थी। लेकिन वर्ष 2020 के आखिर में यह रकम 13 वर्षो के शीर्ष पर पहुंच गई। इससे पहले वर्ष 2006 में 6.5 अरब स्विस फ्रैंक के साथ इन बैंकों में भारतीय ग्राहकों की रकम रिकॉर्ड ऊंचाई पर थी। उसके बाद वर्ष 2011, 2013 और 2017 को छोड़कर इसमें लगातार कमी आती रही।

You Might Also Like...

Sign Up for Our Newsletter

Subscribe now to get notified about Breaking News
from Live4India!