• 41 C
    New Delhi
Travel

हनीमून पर अपने पार्टनर के साथ एक बार जरूर जाएं वडोदरा की इन जगहो पर

( words)

गुजरात की सांस्कृतिक राजधानी वडोदरा, भारतीय और अंतर्राष्ट्रीय पर्यटकों के बीच सबसे लोकप्रिय वीकेंड गेटवे में से एक है। वडोदरा ऐतिहासिक स्थानों, हिल स्टेशनों और वन्यजीव अभयारण्यों का एक परफेक्ट मिश्रण है। साथ ही वडोदरा के पास के पर्यटन स्थल आराम से छुट्टियां मनाने वालों और एडवेंचर प्रेमियों के लिए सबसे अच्छा स्थान माना जाता है। अगर आप वीकेंड पर घूमने की प्लानिंग कर रहे हैं, तो हमारी सलाह है कि इस वीकेंड आपको वडोदरा घूमना चाहिए, वो तो आपको यहां की जगहों के बारे में जानने के बाद खुद ही पता चल जाएगा। चलिए फिर शुरू करते हैं -

1. चंपानेर पावागढ़, गुजरात

गुजरात सल्तनत की राजधानी चंपानेर गुजरात के पंचमहल जिले में स्थित एक ऐतिहासिक शहर है। ऐतिहासिक शहर चंपानेर ऑस्कर नामांकित हिट फिल्म लगान की वजह से लोकप्रिय हुई थी। लेकिन फेमस होने से पहले भी ये जगह पर्यटकों को बेहद आकर्षित करती थी। चंपानेर की स्थापना चावड़ा वंश के वनराज चावड़ा ने की थी। आज, यह चंपानेर-पावागढ़ पुरातत्व पार्क का घर है, जो यूनेस्को द्वारा नामित विश्व धरोहर स्थल है। पार्क में हिंदू और इस्लामी दोनों शैलियों के डिजाइन से युक्त कई शानदार वास्तुशिल्प चमत्कार शामिल हैं। पावागढ़ पहाड़ी की चोटी पर स्थित कालिका माता मंदिर एक महत्वपूर्ण हिंदू मंदिर है जो साल भर तीर्थयात्रियों को आकर्षित करता है।

2. वडोदरा में वडोदरा संग्रहालय और पिक्चर गैलरी

वडोदरा संग्रहालय और चित्र गैलरी को लंदन के विज्ञान संग्रहालय और विक्टोरिया और अल्बर्ट संग्रहालय की तर्ज पर डिजाइन किया गया है। 1894 में गायकवाड़ द्वारा निर्मित, यह भूविज्ञान, पुरातत्व और प्राकृतिक इतिहास से संबंधित कलाकृतियों का एक समृद्ध संग्रह प्रदर्शित करता है। इसमें महाराजा सयाजीराव III के कुछ दुर्लभ व्यक्तिगत संग्रह भी हैं। संग्रहालय में मुगल लघुचित्रों से लेकर जापान, तिब्बत, नेपाल और मिस्र की मूर्तियों, वस्त्रों और वस्तुओं तक का विशाल संग्रह मौजूद है। ये म्यूजियम सुबह 10:30 बजे से शाम 5 बजे तक खुलता है और यहां एंट्री फीस भारतियों के लिए 10 रुपए और विदेशियों के लिए 200 रुपए है।

3. वडोदरा में लक्ष्मी विलास पैलेस

भारत के सबसे शानदार महलों में से एक, प्रतिष्ठित लक्ष्मी विलास पैलेस वडोदरा के शाही परिवार का निवास स्थान है। महाराजा सयाजीराव गायकवाड़ III द्वारा 1890 में निर्मित, विशाल महल अब तक का सबसे बड़ा निजी निवास है और लंदन में बकिंघम पैलेस से चार गुना बड़ा है। इस शानदार महल में आपको वीकेंड पर जरूर चाहिए। आकर्षक लक्ष्मी विलास पैलेस का निर्माण 1890 में किया गया था और आपको बता दें, इसे पूरा होने में लगभग बारह साल लगे थे। लगभग 700 एकड़ के क्षेत्र में फैला, यह अभी भी वडोदरा के शाही परिवार, गायकवाड़ का घर है। इसे इंडो-सरसेनिक स्थापत्य शैली में बनाया गया है और वडोदरा में देखने के लिए पैलेस को शीर्ष पर्यटन स्थलों में गिना जाता है। ये पैलेस सुबह 9:30 बजे से शाम 5 बजे तक खुलता है और सोमवार व सरकारी छुट्टी के दौरान बन रहता है। यहां की एंट्री फीस 150 रुपए प्रति व्यक्ति है।

4. वडोदरा में ईएमई मंदिर

ईएमई मंदिर को दक्षिणामूर्ति मंदिर के रूप में भी जाना जाता है, जिसे भारतीय सेना द्वारा मैनेज किया जाता है। मंदिर भगवान शिव को समर्पित एक खूबसूरत मंदिर है। यह मंदिर अपने डिजाइन, अवधारणा और एल्यूमीनियम शीट्स के साथ कवर किए गए जियोडेसिक डिजाइन के कारण बेहद खूबसूरत है। मंदिर की विशेषता ये है कि इस मंदिर ने हर धर्म के पवित्र प्रतीकों को शामिल किया हुआ है, जिससे मंदिर धर्मनिरपेक्षता का प्रतीक माना जाता है। आपको बता दें, शीर्ष पर रखा कलश हिंदू धर्म का प्रतीक है। गुंबद इस्लाम का प्रतीक है। टॉवर ईसाई धर्म का प्रतिनिधित्व करता है। मीनार के ऊपर की सुनहरी संरचना बौद्ध धर्म को व्यक्त करती है। प्रवेश द्वार की संरचना जैन धर्म को दर्शाती है। मंदिर रविवार को बंद रहता है और बाकि के दिनों में सुबह 6:30 से 8:30 बजे तक खुलता है।

5. वडोदरा में मकरपुरा पैलेस

मकरपुरा पैलेस 1870 में गायकवाड़ के शाही परिवार के लिए ग्रीष्मकालीन महल के रूप में काम करने के लिए बनाया गया था। संरचन को इटालियन टच दिया गया था। इसे बनाए जाने के वर्षों बाद इसे फिर पुनर्निर्मित किया गया था क्योंकि शाही परिवार को गर्मियों के मौसम में तमिलनाडु की ठंडी जगह नीलगिरि पसंद आ गई थी। आज, महल भारतीय वायु सेना के लिए एक प्रशिक्षण स्कूल के रूप में कार्य करता है, जिसे नंबर 17 टेट्रा स्कूल कहा जाता है। पैलेस सुबह 9:30 से शाम 6 बजे तक खुलता है।

6. वडोदरा का सयाजी गार्डन

1879 में महाराजा सयाजी राव गायकवाड़ द्वारा निर्मित, सयाजी गार्डन 100 एकड़ से अधिक के क्षेत्र में फैला है और इसे देश के पश्चिमी भाग में सबसे बड़े सार्वजनिक उद्यानों में से एक माना जाता है। सरदार पटेल तारामंडल, वडोदरा संग्रहालय और चित्र गैलरी, एक टॉय ट्रेन, एक चिड़ियाघर, एक मछलीघर और 98 से अधिक विभिन्न प्रजातियों के पेड़ों की उपस्थिति इस उद्यान को वडोदरा के सबसे आकर्षक पर्यटन स्थलों में से एक बनाती है। एक जगह में इतनी सारी चीजें गुजरात में सबसे ज्यादा देखे जाने वाली जगहों में से एक बनाती है। ये गार्डन सुबह 9:30 से 6 बजे तक खुलता है, जहां घूमने की फीस फ्री है लेकिन एक्टिविटी के लिए यहां चार्ज लगता है।

7. अजवा निमेता डैम गार्डन

अजवा निमेता डैम गार्डन में ऊंचे-ऊंचे ताड़ के पेड़ और शाम के समय मंत्रमुग्ध कर देने वाला लाइट शो बेहद ही खूबसूरत लगता है। 130 एकड़ के इस गार्डन का डिजाइन मैसूर के वृंदावन गार्डन से प्रेरित है। इस उद्यान का मुख्य आकर्षण एक लाइन में लगे म्यूजिकल फाउंटेन हैं, जहां शाम के समय आप यहां कई लाइटनिंग एंड साउंड शो देख सकते हैं। यह उद्यान वयस्कों और बच्चों दोनों के ही द्वारा बेहद पसंद किया जाता है।

 

You Might Also Like...

Sign Up for Our Newsletter

Subscribe now to get notified about Breaking News
from Live4India!