• 41 C
    New Delhi
Travel

भारत में हैं अजीबोगरीब मंदिर जहां पर लोग करते है संगमरमर और बुलेट की पूजा

( words)

भारत में 3 करोड़ से भी अधिक देवी देवता हैं, जहां आपको हर शहर हर कोने में एक स्थापित मंदिर दिख ही जाएगा। आज हम आपको ऐसे अनोखी जगह लेकर जाने वाले हैं, जहां आपको लोग अजीबोंगरीब और अद्भुत चीजों की पूजा करते हुए दिखाई देंगे। यकीन नहीं होता, तो चलिए आपको बताते हैं -

1.बुलेट बाबा, जोधपुर

यह मंदिर जोधपुर से लगभग 40 किलोमीटर दूर बांदाई गांव में बनाया गया था। यहां, भक्त एक एनफील्ड बुलेट मोटरबाइक की पूजा करने के लिए इकट्ठा होते हैं, जो एक कांच के बक्से के अंदर मौजूद है, जिसके सामने का भाग खुला है। सुरक्षित यात्रा के लिए यहां प्रार्थना करने वाले लोगों का दावा है कि बाइक में अलौकिक शक्तियां हैं। इस मंदिर में बाइक की पूजा करने का कारण ये है कि ये बाइक ओम बन्ना की थी, जिनकी बाइक एक्सीडेंट में मृत्यु हो गई। पुलिस ने एक्सीडेंट हुई बाइक को जब्त कर लिया। लेकिन ऐसा कहा जाता है कि बाइक पुलिस स्टेशन से गायब होकर दुर्घटना वाली जगह पर आ पहुंची। जब पुलिस ने फिर से बाइक को जब्त किया, तब फिर से ये बाइक उस जगह पर आ गई। गांव वालों का कहना है कि इसमें ओम बन्ना की आत्मा है।

2.एयरो प्लेन गुरुद्वारा, जालंधर

'हवाई जहाज' गुरुद्वारा के रूप में जाना जाने वाला, यह मंदिर पंजाब में हैं। इस गुरूद्वारे को लेकर लोगों का मानना है कि अगर आपका वीजा या पासपोर्ट बनने में अड़चने आ रही हैं, तो आप खिलौने वाले हवाई जहाज को दान करके पासपोर्ट या वीजा बनने में आ रही अड़चनों को दूर कर सकते हैं।

3.व्हिस्की देवी, काल भैरव मंदिर, उज्जैन

अहमदाबाद के मनाईनगर इलाके में स्थित भैरव मंदिर में हर रविवार शाम शराब की बोतलें ले जाने वाले श्रद्धालुओं की कतार लगती है। शाम 7.30 बजे पूजा के बाद, एक पुजारी सावधानी से भक्तों से बोतलबंद प्रसाद एकत्र करता है और मुख्य पुजारी को देता है। फिर मुख्य पुजारी मंत्रों का जाप करते हुए मूर्ति पर एक या दो बूंद डालते हैं। मंदिर से जुड़ा एक रहस्य ये भी है कि डाली गई सारी शराब को प्रतिमा सोख लेती है, इसके बारे में अभी कोई स्पष्टीकरण नहीं है।

4.देवी सोनिया का मंदिर, तेलंगाना

2014 में तेलंगाना राज्य बनाने के लिए, कांग्रेस सरकार के फैसले को धन्यवाद करने के रूप में, आंध्र प्रदेश के विधायक ने अपनी बेटी सुष्मिता के नाम पर पंजीकृत बैंगलोर-हैदराबाद राजमार्ग के पास जमीन के एक टुकड़े में एक मंदिर बनवाया। 500 किलोग्राम वजन की कांस्य प्रतिमा एक राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता मूर्तिकार द्वारा बनाई गई थी, जो संयोग से सीमांध्र क्षेत्र से संबंधित है।

5.भारत माता मंदिर, वाराणसी

भारत माता को समर्पित इस मंदिर का उद्घाटन महात्मा गांधी द्वारा 1936 में किया गया था। इसमें कोई मूर्ती नहीं, बल्कि संगमरमर से बना भारत का नक्शा है। ये मंदिर भारत के सभी स्वतंत्रता सेनानियों को समर्पित है। आप जब भी वाराणसी जाएं, तो इस मंदिर के दर्शन भी जरूर करें।

6.चाइनीज काली मंदिर, कोलकाता

ये मंदिर चीनी पुजारी द्वारा संचालित किया जाता है, जिसमें काली माता की पूजा की जाती है। यहां भक्तों को प्रसाद के रूप में नूडल्स, फ्राइड राईस और मंचूरियन दिया जाता है। आप भी कोलकाता में रहते हुए इस मंदिर के दर्शन करने जा सकते हैं।

 

You Might Also Like...

Sign Up for Our Newsletter

Subscribe now to get notified about Breaking News
from Live4India!