• 41 C
    New Delhi
Travel

इंडिया में स्थित स्कॉटलैंड ‘कुर्ग’ है सबसे खुबसूरत जगह मॉनसून में हो जाता है और भी ज्यादा खुबसूरत

( words)

किसी भी मामले में यूरोप के हिल स्टेशनों से कम नहीं है कुर्ग

अगर आप यूरोप घूमना चाहते हैं लेकिन जेब इजाजत नहीं दे रही तो निराश होने की बजाए कुर्ग का रुख कीजिए। यह किसी भी मामले में यूरोपीय हिल स्टेशन से कम नहीं है, इसलिए इसे इंडिया का स्कॉटलैंड भी कहा जाता है। कर्नाटक में पश्चिमी घाट की वादियों में बसे इस खूबसूरत हिल स्टेशन पर हर साल लाखों की संख्या में देश-विदेश से टूरिस्ट आते हैं। यहां हम आपको कुर्ग की कुछ बेहतरीन तस्वीरें दिखा रहे हैं।

कोडगु है कुर्ग का आफिशल नाम

कर्नाटक जिले में स्थित कुर्ग का आफिशल नाम कोडगु है। यह जगह देश के फेमस टूरिस्ट डेस्टिनेशन में से एक है। पहाड़ियों के बीच बसा यह खूबसूरत हरा-भरा जिला आउटडोर एक्टिविटीज के लिए बेहतरीन है। यहां पर आप ट्रैकिंग, फिशिंग और वाइट वॉटर राफ्टिंग का मजा ले सकते हैं।

मॉनसून में काफी बढ़ जाती है खूबसूरती

पूरे कर्नाटक में सबसे कम जनसंख्या घनत्व वाला स्थान कुर्ग ही है, जिसके कारण यहां आपको शहरी शोर-शराबे और भागदौड़ से अलग शांत माहौल मिलेगा, जो सुकून भरा अनुभव होगा। कुर्ग जाने का बेस्ट टाइम अक्टूबर से मई तक होता है, लेकिन मॉनसून में इसकी खूबसूरती काफी बढ़ जाती है।

देश के भारी वर्षा वाले क्षेत्रों में से एक है कुर्ग

भारत के इस क्षेत्र में सबसे ज्यादा कॉफी उत्पादन होता है। साथ ही यह देश के भारी वर्षा वाले क्षेत्रों में से भी एक है। कर्नाटक के इस हिल स्टेशन पर आपको चारों ओर हरी वादियां, चाय के बागान, कॉफी के पेड़ और संतरे के बाग मिलेंगे।

कई प्रसिद्ध पर्यटन स्थल भी है यहां

कुर्ग में कई प्रसिद्ध पर्यटन स्थल भी मौजूद हैं, जिनमें भगमंदला, तालकावेरी, निसर्ग धाम, दुबेरे, अब्बे वॉटर फॉल, इरुप्पू वॉटर फॉल और नागरहोल नेशनल पार्क शामिल हैं। पुष्पगिरि और ब्रह्मगिरी ट्रेकिंग के लिए फेमस हैं। इस जगह की प्राकृतिक खूबसूरती के कारण इसे भारत का स्कॉटलैंड भी कहा जाता है।

बेहद आसान है यहां पहुंचना

हॉलिडे के लिए बेहतरीन इस जगह पर हवाईजहाज, ट्रेन और गाड़ी से अलग-अलग तरह से पहुंचा जा सकता है। कुर्ग से सबसे नजदीक डमेस्टिक एयरपोर्ट मंगलौर है जो यहां से करीब 160 किलोमीटर दूर है। वहीं नजदीकी इंटरनैशनल एयरपोर्ट बेंगलुरु का है जो यहां से 265 किलोमीटर की दूरी पर है।

हवाई जहाज से कैसे पहुंचे कुर्ग

देश के भी बड़े शहरों से बेंगलुरु और मंगलौर एयरपोर्ट के लिए आपको स्पाइटजेट, इंडिगो, एयर इंडिया की फ्लाइट्स मिल सकती है। दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, कोलकाता, हैदराबाद जैसे शहरों से इन एयरपोर्ट्स की डायरेक्ट फ्लाइट भी उपलब्ध है। फ्लाइट की जानकारी के लिए आप विभिन्न ट्रैवल वेबसाइट्स की सहायता ले सकते हैं।

ट्रेन से कैसे पहुंचे कुर्ग

आप कर्नाटक के मैसूर तक ट्रेन से जा सकते हैं। मैसूर स्टेशन कुर्ग के सबसे नजदीक है। दोनों के बीच की दूरी करीब 95 किलोमीटर है। मैसूर स्टेशन देश के लगभग सभी बड़े स्टेशनों से कनेक्टेड है। मैसूर के अलावा मंगलौर स्टेशन तक की भी आप ट्रेन ले सकते हैं।

सड़क मार्ग से भी पहुंच सकते हैं कुर्ग

अगर आप बेंगलुरु या कुर्ग के पास के अन्य इलाकों में रहते हैं तो डेस्टिनेशन तक पहुंचाने वाले रास्ते की खूबसूरती आपके ड्राइविंग एक्सपीरियंस को और शानदार बना देगी। अगर आप बेंगलुरु से ड्राइव कर कुर्ग जाएंगे तो आपको साढ़े चार घंटे का समय लगेगा। आपका अगर ड्राइव करने का मन नहीं है तो बेंगलुरु, मैसूर और मंगलौर से आपको कुर्ग तक की डायरेक्ट बस भी मिल जाएगी।

कुर्ग में एडवेंचर ऐक्टिविटी

अगर आप रोमांच के शौकीन हैं तो कुर्ग में इसका भी पूरा प्रबंध हैं आप ट्रैकिंग या माउंटेनिंग कर सकते हैं। कक्काबे से थडियानडामोल सबसे लोकप्रिय रूट है जो राज्य की सबसे ऊंची चोटी भी है, इस ट्रेक को पूरा करने में करीब 5 घंटे लगते हैं। इसके अलावा दुबारे हाथी कैंप का रुख कर सकते हैं। यह कैंप कर्नाटक सरकार चलाती है और इसमें हाथियों को पेशेवर प्रशिक्षकों द्वारा प्रशिक्षण दिया जाता है। यहां आप हाथी की सवारी कर सकते हैं और नदी में हाथियों के साथ नहा भी सकते हैं। हाथियों के साथ नहाने के लिए आपको सुबह 9 बजे यहां पहुंचना होगा। इसके अलावा कुर्ग में रीवर राफ्टिंग, माइक्रोलाइट फ्लाइंग, कायाकिंग और केनोइंग, क्वेड बाइकिंग, जंगल जिम और पेंटबॉल ऐक्टिविटी का अनुभव भी कर सकते हैं।

You Might Also Like...

Sign Up for Our Newsletter

Subscribe now to get notified about Breaking News
from Live4India!