• 41 C
    New Delhi
Travel

जानें कौन कौन सी हैं दुनिया की सबसे खूबसूरत झीलें

( words)

प्रकृति की खूबसूरती को निहारना किसे पसंद नहीं होता। दुनिया में ऐसी अनेकों जगह हैं, जिसे कुदरत ने अद्भुत तरीके से निहारा है। उन्हीं में से एक हैं विश्व की खूबसूरती में चार-चांद लगा देने वाली झीलें। विश्व में ऐसी कई झीलें हैं जो अत्यंत खूबसूरत नजारा पेश करती हैं। कुछ झीलें इंसानों के बीच हैं, तो कुछ हमारी आंखों से दूर स्वच्छ और निर्मल हैं। आज हम इस लेख में लेकर आएं, ऐसी 6 झीलें जिन्हें दुनिया की सबसे खूबसूरत झीलों में गिना जाता है।

बैकाल झील, रूस

दक्षिणपूर्वी साइबेरिया में स्थित शानदार बैकाल झील दुनिया की सबसे पुरानी और सबसे गहरी मीठे पानी की झील है। यह लगभग 25-30 मिलियन वर्ष पहले निर्मित हुई थी और इसकी गहराई 1.6 किलोमीटर है। अर्धचंद्राकार झील उत्तर से दक्षिण तक 636 किलोमीटर से अधिक तक फैली हुई है और इसमें दुनिया का 20% ताजा पानी मौजूद है। बैकाल झील जानवरों की 2500 प्रजातियों और पौधों की 100 प्रजातियों का भी घर है। समृद्ध जैव विविधता को ध्यान में रखते हुए यूनेस्को ने 1996 में बैकाल झील को विश्व विरासत स्थल के रूप में मान्यता दी। बैकाल झील भी पहाड़ों, जंगलों, टुंड्रा और द्वीपों से घिरी हुई है।

मेलिसनी गुफा झील, ग्रीस

मेलिसानी गुफा झील ग्रीस के प्राकृतिक अजूबों में से एक है, जो सेफालोनिया द्वीप में स्थित है। मेलिसानी गुफा का निर्माण चट्टानों के विघटन और गुफाओं में पानी के प्रवेश से हुआ था। चट्टानों पर पानी की निरंतर क्रिया के परिणामस्वरूप लाखों साल पहले चट्टान में एक बड़ा छेद हो गया था और इस तरह इस झील का निर्माण प्राकृतिक तरीके से हो गया। मेलिसानी गुफा झील में समुद्र और ताजा पानी दोनों हैं और इसकी गहराई 20-30 मीटर है। मेलिसानी गुफा ऊपर से एक बड़ी चट्टान से ढकी हुई है। दोपहर के समय नीले पानी पर धूप की की पड़ती किरणे गुफा में एक जादुई रोशनी पैदा कर देती हैं। 1951 में झील के छोटे से द्वीप से खुदाई के दौरान पुरातत्वविदों द्वारा कई कलाकृतियाँ और अप्सराओं (ग्रीक पौराणिक आकृति) की कई आकृतियाँ पाई गई थी।

प्लिटविस झील, सेंट्रल क्रोएशिया

प्लिटविस झील राष्ट्रीय उद्यान एक विश्व धरोहर स्थल है और क्रोएशिया का सबसे लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण है। इस अविश्वसनीय राष्ट्रीय उद्यान में 300 वर्ग किलोमीटर के विशाल क्षेत्र में वुडलैंड्स, झीलें, गुफाएँ और झरने शामिल हैं। यहां कुल 16 झील है, जिसमें 12 झीलें सतह से थोड़ी सा ऊपर हैं, तो 4 झीले नीचे। झील में कई प्रकार के खनिजों की वजह से झील का रंग फिरोजा दिखाई देता है। झीलों का रंग भी पानी में खनिजों की मात्रा के अनुसार बदलता रहता है। पर्यटक आसपास घने जंगलों और समृद्ध वन्य जीवन को देख सकते हैं। यह राष्ट्रीय उद्यान भेड़िया, चील, उल्लू, यूरोपीय भूरे भालू और पक्षियों की 126 प्रजातियों का घर है। सर्दियों के मौसम में झीलें और झरने जम जाते हैं और वसंत और पतझड़ के दौरान राष्ट्रीय उद्यान में पानी की अधिक मात्रा देखी जा सकती है।

फाइव फ्लॉवर लेक, चीन

पांच फूलों वाली झील को चीन के उत्तरी सिचुआन में जियुझाइगौ राष्ट्रीय उद्यान का गौरव माना जाता है। जियुझाइगौ राष्ट्रीय उद्यान में 108 बहुरंगी झीलें हैं और फाइव फ्लॉवर लेक अधिक रंगीन और सुंदर दिखती है। यह उथली झील नीला, गहरा हरा और हल्का पीला सहित विभिन्न रंगों को दर्शाती है। फाइव फ्लॉवर लेक का ये रंग खनिज, शैवाल और पानी में मौजूद पौधों की वजह से देखने को मिलता है। फाइव फ्लॉवर झील के क्रिस्टल साफ पानी के माध्यम से आप कई प्राचीन पेड़ के तने भी देख सकते हैं। पतझड़ के दौरान आसपास के जंगल का रंग बदलकर पीला, हल्का नारंगी और लाल हो जाता है।

डल झील, जम्मू कश्मीर

श्रीनगर शहर की खूबसूरत डल झील को 'कश्मीर के ताज में गहना' कहा जाता है। इस झील के तीन किनारे बर्फ से ढके पहाड़ों से घिरे हुए हैं। डल झील की 15 किलोमीटर लंबी तटरेखा हरे-भरे बगीचों से घिरी हुई है। मुगल काल द्वारा निर्मित ये आकर्षक उद्यान डल झील की सुंदरता में चार-चाँद लगा देता है। डल झील 22 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल के साथ जम्मू और कश्मीर की दूसरी सबसे बड़ी झील भी है। झील में आप कमल के फूल का तैरता हुआ बगीचा भी देख सकते हैं। डल झील की सुंदरता और शांत पानी हर साल हजारों पर्यटकों को आकर्षित करता है। पर्यटकों के लिए डल झील की आकर्षक सुंदरता को निहारने के लिए आप 'शिकारा' सवारी भी कर सकते हैं। सर्दियों के मौसम में डल झील का पानी जम जाता है और बर्फ की मोटी चादर बन जाती है।

पेयटो झील, कनाडा 

लुभावनी रूप से खूबसूरत पेयटो झील कनाडाई रॉकीज़ में 1860 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। पेयटो झील, कनाडा के सबसे पुराने राष्ट्रीय उद्यान, बानफ राष्ट्रीय उद्यान का एक हिस्सा है। इस झील में आप फिरोजा रंग को भी देख सकते हैं, ऐसा इसलिए होता है क्योंकि पेयटो ग्लेशियर से निकलने वाला रॉक फ्लार पानी में घुलता रहता है और इस मिश्रण की वजह से पानी में बदलाव देखने को मिलता है। पर्यटक आइसफिल्ड पार्कवे हाईवे में बो समिट ट्रेल से पेयटो झील का खूबसूरत नजारा देख सकते हैं। चारों ओर पहाड़ियां, गहरी घाटियां और खूबसूरत फूल झील की खूसबूरत में चार-चांद लगा देती हैं।

 

You Might Also Like...

Sign Up for Our Newsletter

Subscribe now to get notified about Breaking News
from Live4India!