Wholesale Price Index मोदी सरकार को बड़ी राहत, 8 महीने के निचले स्‍तर पर महंगाई

0
1

Wholesale Price Index  थोक कीमतों पर आधारित देश की सालाना महंगाई दर दिसंबर में घटकर 3.80 फीसदी रही है. यह नवंबर में 4.64 फीसदी थी.

महंगाई के मोर्चे पर विरोधियों की आलोचना झेल रही मोदी सरकार को ताजा आंकड़ों से बड़ी राहत मिलने वाली है.  आंकड़ों के मुताबिक थोक कीमतों पर आधारित देश की सालाना महंगाई दर दिसंबर में घटकर 3.80 फीसदी रही है. यह पिछले 8 माह का निचला स्तर है. इससे पहले अप्रैल 2018 में थोक महंगाई का सबसे कम 3.62 फीसदी का आंकड़ा दर्ज किया गया था. आसाना भाषा में समझें तो अप्रैल के बाद दिसंबर में थोक कीमतों पर महंगाई में इतनी बड़ी कटौती हुई है. इससे पहले नवंबर में थोक महंगाई दर 4.64 फीसदी थी.

ईंधन एवं ऊर्जा क्षेत्र में दिसंबर में मुद्रास्फीति घटकर 8.38 फीसदी रही जो नवंबर की 16.28 फीसदी मुद्रास्फीति के मुकाबले लगभग आधी है. इसकी अहम वजह दिसंबर में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कमी आना है. अलग-अलग देखें तो दिसंबर में पेट्रोल कीमतों की मुद्रास्फीति 1.57 प्रतिशत और डीजल कीमतों की 8.61 फीसदी रही है. वहीं एलपीजी में यह 6.87 फीसदी रही.

सरकारी आंकड़ों के अनुसार दिसंबर में खाद्य पदार्थों में 0.07 प्रतिशत महंगाई घटी है. खाद्य वस्तुओं में पिछले महीने के मुकाबले आलू दिसंबर में सस्ते हुए. दिसंबर में आलू कीमतों में मुद्रास्फीति की दर 48.68 फीसदी रही जो नवंबर में 86.45 फीसदी थी. प्याज कीमतों में दिसंबर में 63.83 फीसदी अवस्फीति दर्ज की गई जो नवंबर में 47.60 प्रतिशत थी. दालों में मुद्रास्फीति की दर 2.11 प्रतिशत रही, वहीं अंडा, मांस और मछली में यह दर 4.55 फीसदी रही. दिसंबर की 3.80 फीसदी की मुद्रास्फीति दर पिछले आठ महीनों में सबसे कम है. इससे पहले अप्रैल में यह 3.62 फीसदी पहुंची थी.